Good News: केंद्र की इस योजना में MP देश में अव्वल, 4 लाख से ज्यादा को मिला लाभ

योजना के क्रियान्वयन में देश में तेलंगाना द्वितीय, उत्तर प्रदेश तृतीय, आंध्र प्रदेश चतुर्थ, कर्नाटक पाँचवें और छत्तीसगढ़ छठवें स्थान पर है।

mp

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) ने एक बार फिर पूरे देश में परचम लहराया है। MP के स्ट्रीट वेंडर्स को प्रधानमंत्री स्वनिधि योजना का सबसे ज्यादा फायदा मिला है।प्रधानमंत्री स्वनिधि योजना में 101.60 प्रतिशत उपलब्धि अर्जित कर मध्यप्रदेश देश में अव्वल स्थान पाया है।इससे प्रदेश के 4 लाख 11 हजार 481 पथ-विक्रेताओं को लाभ मिला है। वही पड़ोसी राज्य छत्तीसगढ़ छठवें स्थान पर रहा है।

यह भी पढ़े.. MP College: छात्रों के लिए काम की खबर, 22 नवंबर से ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन, टाइम टेबल जारी

दरअसल, केन्द्रीय आवास और शहरी मंत्रालय द्वारा इस योजना में MP को वर्ष 2021-22 के लिए 4 लाख 5 हजार पथ-विक्रेताओं को लाभान्वित करने का लक्ष्य दिया गया था। लक्ष्य के विरूद्ध MP में 4 लाख 11 हजार 481 पथ-विक्रेताओं को 10-10 हजार रूपये ब्याज रहित ऋण (Loan) वितरित किया जा चुका है।नगरीय प्रशासन और विकास आयुक्त  निकुंज कुमार श्रीवास्तव ने बताया है कि योजना के क्रियान्वयन में देश में तेलंगाना द्वितीय, उत्तर प्रदेश तृतीय, आंध्र प्रदेश चतुर्थ, कर्नाटक पाँचवें और छत्तीसगढ़ छठवें स्थान पर है।

नगरीय विकास एवं आवास मंत्री  भूपेन्द्र सिंह (Minister Bhupendra Singh) ने कहा है कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के नेतृत्व में प्रधानमंत्री स्वनिधि योजना (Prime Minister’s Svanidhi Yojana) के प्रथम चरण के साथ ही द्वितीय चरण में भी MP नंबर एक है। समय पर 10 हजार रुपये का ऋण चुकाने वाले पथ-विक्रेताओं को 20 हजार और फिर 50 हजार रूपये का ऋण स्वीकृत करने का प्रावधान योजना में है।

यह भी पढ़े.. Relationship Tips : लड़के रोज अपनाएं ये 5 हाइजीन टिप्स, गर्लफ्रेंड रहेगी हमेशा इम्प्रेस।

बता दे कि केंद्र की मोदी सरकार द्वारा गरीब स्ट्रीट वेंडर्स को रोजगार (employment) शुरू करने में मदद करने के लिए 01 जून, 2020 से योजना शुरू की है।मध्‍यप्रदेश राज्‍य में योजना के तहत लगभग 4.50 लाख स्ट्रीट वेंडर्स का रजिस्ट्रेशन किया गया है। इनमें से 4.00 लाख से ज्यादा स्ट्रीट वेंडर्स (street vendors) को आई कार्ड और वेंडर सर्टिफिकेट जारी किया है। मध्‍य प्रदेश ने योजना के तहत योग्य 2.45 लाख स्ट्रीट वेंडर्स की एप्लीकेश, पोर्टल के जरिए बैंकों को भेज दी है। वहीं इस स्कीम के तहत 1.40 लाख स्ट्रीट वेंडर्स को 140 करोड़ रुपये का लोन दिया जा चुका है।