22 साल से लापता पति जोगी के वेश में पहुंचा घर, पत्नी से मांगी भिक्षा, फिर हुआ ये

कांडी गढ़वा, डेस्क रिपोर्ट। झारखंड के गढ़वा से एक ऐसी खबर सामने आई है जिसे पढ़कर कोई भी भावुक हो उठेगा। एक महिला जो 22 साल विधवा का जीवन जी रही थी, अचानक उसके सामने उसका पति आ गया।

चाचाजी को किया प्रणाम, लगाया गले और लगा गया साढ़े तीन लाख का चूना !

ये किसी फिल्मी कहानी से कम नहीं..गढ़वा जिले के कांडी प्रखंड के सेमौरा गांव में रहने वाला उदय साव 22 वर्ष पहले घर छोड़कर चला गया था और जोगी बन गया था। घरवालों ने उसे कई सालों तक तलाशा लेकिन कुछ पता नहीं चला। काफी समय तक खबर न मिलने के कारण घरवालों ने मान लिया कि अब वो जीवित नहीं है और इस तरह उसकी पत्नी अपने बेटे और बेटी के साथ किसी तरह मेहनत मजदूरी करके जीवनयापन करने लगी। लेकिन 22 साल बाद अचानक उस महिला के घर हाथों में सारंगी लिए हुए एक जोगी पहुंचा और भिक्षा मांगने लगा।

महिला ने जब उस जोगी को देखा तो उसे अपनी आंखो पर भरोसा नहीं हुआ, ये कोई और नहीं उसका पति उदय साव ही था। इसके बाद तो हंगामा मच गया, महिला बिलख बिलखकर रोने लगी और उसे मनाने लगी कि वो स्वीकार ले कि वही उसका पति है। हालांकि काफी समय तक वो अपना परिचय छुपाता रहा लेकिन बाद में उसने स्वीकार लिया कि वही उदय साव है। लेकिन उसने घर आने से मना कर दिया और कहा कि वो वहां इसलिए आया है क्योंकि पत्नी के भिक्षा लिए बिना उसे सिद्धि प्राप्त नहीं हो सकती। पत्नी के साथ आसपास के लोगों ने भी उसे समझाने की काफी कोशिश की लेकिन वो नहीं माना और अपने परिवार में रहने से इनकार कर दिया। यहां तक कि वो गांव से बाहर आ गया और डिग्री कॉलेज कांडी में शरण ले ली।