इटारसी: अब स्कार्पियो वाली मैडम का हाईवोल्टेज ड्रामा, सवाल पूछने पर एसडीएम-तहसीलदार पर भड़की

घर से बाहर निकलने का कारण पूछने पर एक महिला भड़क उठी और सड़क पर करीब 20 मिनट हाईवोल्टेज ड्रामा किया।

इटारसी, राहुल अग्रवाल। कोरोना (Corona) की दूसरी लहर ने एक बार फिर जनता को घरों में रहने पर मजबूर कर दिया है कोरोना के प्रकोप को रोकने के लिए हर जगह लॉकडाउन (Lockdown) और कोरोना कर्फ्यू (Corona curfew) लगाया हुआ है वही इसका पालन कराने के लिए पुलिस प्रशासन भी सड़कों पर है जिसके कारण कई बार पुलिस को ऐसे लोगों से भी जूझना पड़ता है जो जरा से सवाल पर अक्सर अपना आपा खो देते हैं और ऐसा ही कुछ वाक्य आज इटारसी (Itarsi) से सामने आया है जहां प्रशासन द्वारा सवाल पूछने पर एक महिला इतनी आग बबूला हो गई कि उसने एसडीएम और तहसीलदार को खरी खोटी सुना दी जिसके बाद उसका खामियाजा भी उस महिला को भुगतना पड़ा।

यह भी पढ़ें…मरीज गिड़गिड़ाता रहा, गार्ड डंडे बरसाता रहा, कटनी जिला अस्पताल का मानवता शर्मसार करने वाला वीडियो वायरल

दरअसल; इटारसी के रेलवे स्टेशन के सामने प्रशासन और पुलिस टीम रोको टोको अभियान के तहत सड़क पर निकलने वालों से पूछताछ कर रही थी, इसी दौरान स्कार्पियो कार में सवार महिला को एसडीएम मदन सिंह रघुवंशी और तहसीलदार पूनम साहू ने रोका तो महिला आगबबूला हो गई और एसडीएम ,तहसीलदार से बदतमीजी से बात करते हुए भड़क उठी, करीब 20 मिनिट तक महिला का ड्रामा चलता रहा, जिसके बाद एसडीएम ने महिला को थाने भेजकर चालानी कार्यवाही की।

यह भी पढ़ें…जबलपुर : गुजरात पुलिस के हत्थे चढ़ा नकली इंजेक्शन बनाने वाला आरोपी, पूछताछ में हो सकता है बड़ा खुलासा

जानकारी के अनुसार शहर की एलकेजी कालोनी में रहने वाली महिला अपने बेटे के साथ शहर के भृमण पर निकली थी, महिला स्कॉर्पियो कार में सवार थी और वाहन चेकिंग के दौरान एसडीएम मदन सिंह रघुवंशी और तहसीलदार पूनम साहू ने महिला को रोककर पूछताछ की कहा जिसके बाद महिला ने दोनों अधिकारियों को टायर में हवा भरने की बात कहते हुए आग बबूला हो उठी, जब तक एसडीएम कुछ समझते महिला उनपर भी भड़क उठी और उनको प्रशासन का क्या काम है इसका पाठ सीखने लगी, महिला ने तहसीलदार पूनम साहू से भी जमकर बतमीजी की। करीब 20 मिनिट तक महिला सड़क पर हंगामा करती रही, वही बाद में एसडीएम ने पुलिस जवानों के साथ महिला को थाने पहुंचाया, जहां पुलिस ने महिला के ऊपर चालानी कार्यवाही की। उसके बाद महिला को दोनों अधिकारियों ने समझाइश देकर छोड़ दिया।