कांग्रेस नेता की मौत पर बवाल, CM ने दिए जांच के निर्देश, सारंग बोले- दोषियों पर होगी कार्रवाई

मंत्री ने बताया कि हमीदिया प्रशासन ने जो रिपोर्ट दी है। उसमें लाइट जाने के कारण मृत्यु (Death) नहीं हुई है।हमीदिया अस्पताल में 5 बजाकर 58 मिनच पर लाइट गई, वहां बैकअप के इंतज़ाम है और मेंटेनेंस के भी निर्देश दिए गए थे, लेकिन जनरेटर 10मिनट के बाद बंद हो गया था।

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्यप्रदेश (Madhya Pradesh) की राजधानी भोपाल (Bhopal) में 67 वर्षीय पूर्व पार्षद और कांग्रेस नेता अकबर खान (Congress leader Akbar Khan) की मौत हो के बाद बवाल मच गया है। घटना के बाद हमीदिया अस्पताल प्रबंधन पर लापरवाही और शिवराज सरकार पर स्वास्थ्य व्यवस्थाओं को लेकर सवाल खड़े हो रहे है।हालांकि चिकित्सा मंत्री विश्वास सारंग (Vishwas Sarang)ने पीडब्ल्यूडी के इंजीनियर को निलंबित के बाद डीन और अधीक्षक को नोटिस थमा दिया है और अब जांच के आदेश दिए है।

आज मीडिया से चर्चा के दौरान चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास सारंग का बड़ा बयान सामने आया है। मंत्री ने कहा कि हमीदिया अस्पताल  (Hamidia Hospital) में 3 लोगों की मौत हुई है, यह दुर्भाग्यपूर्ण और बड़ी लापरवाही है। तत्काल प्रभाव से पीडब्ल्यूडी के इंजीनियर (PWD Engineer) को निलंबित (Suspended) कर दिया गया है वही डीन और अधीक्षक को नोटिस दिया गया है।मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Shivraj Singh Chauhan) ने उच्च स्तरीय जांच  (High level investigation) के निर्देश दिए है । जांच रिपोर्ट आज ही दी जाएगी, जो दोषी है, उन पर कार्यवाई होगी।

यह भी पढ़े…Bhopal News : अस्पताल की लापरवाही से कांग्रेस नेता की मौत, डीन-अधीक्षक को नोटिस

मंत्री ने बताया कि हमीदिया प्रशासन ने जो रिपोर्ट दी है। उसमें लाइट जाने के कारण मृत्यु (Death) नहीं हुई है।हमीदिया अस्पताल में 5 बजाकर 58 मिनच पर लाइट गई, वहां बैकअप के इंतज़ाम है और मेंटेनेंस के भी निर्देश दिए गए थे, लेकिन जनरेटर 10मिनट के बाद बंद हो गया था।जिन मरीज़ों को वेंटिलेटर (Ventilator) पर रखा था 2 घंटे का बैकअप था। एक घंटे के भीतर बिजली (Electricity) आ गई थी3 मरीजो की मौत होना दुर्भाग्यपूर्ण है। जांच रिपोर्ट के बाद जो दोषी होगा उस पर कार्यवाई की जाएगी।

सीएम ने दिए जांच के आदेश
मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने हमीदिया अस्पताल भोपाल के कोरोना (Corona) वार्ड बिजली गुल मामले में भोपाल संभाग आयुक्त कवींद्र कियावत (Bhopal Divisional Commissioner Kavindra Kiyawat) को तुरंत जांच कर कार्रवाई के निर्देश दिए हैं। मुख्यमंत्री चौहान ने कहा है कि यदि ऐसा है, तो यह गंभीर लापरवाही है तथा शाम तक जांच कर इसकी रिपोर्ट दी जाए। लापरवाही बरतने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी।

कांग्रेस ने मंत्री से मांगा इस्तीफा
घटना के बाद कांग्रेस ने सरकार को घेरना शुरु कर दिया है। कांग्रेस नेता केके मिश्रा ने चिकित्सा मंत्री के इस्तीफे की मांग की है। मिश्रा ने ट्वीट कर लिखा है कि मप्र की स्वास्थ्य सेवाएं सरकार ने यमराज को सौंप दी हैं,शहडोल में 18 बेकसूर बच्चों की मौत,ग्वालियर में दलाल कोरोना संक्रमितों को प्लाज्मा बेच रहे हैं,अब राजधानी के हमीदिया अस्पताल में कोरोना वार्ड की बिजली गुल,बैकअप फेल,पूर्व पार्षद की मौत!नाकारा स्वास्थ्य मंत्री इस्तीफा दें।