MP: अज्ञातवास से लौटे प्रद्युम्न सिंह तोमर का एक्शन- अधिकारियों को दिए यह बड़े निर्देश

ऊर्जा मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर (Pradyuman Singh Tomar) ने अधिकारियों को सख्त निर्देश दिए है कि विद्युत (Electricity) ट्रिपिंग कम से कम होना चाहिये। ट्रिपिंग और उसमें सुधार का तुलनात्मक विवरण हर माह मुझे दें।

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। ज्योतिरादित्य सिंधिया (Jyotiraditya Scindia) समर्थक और शिवराज सरकार (Shivraj Government) में ऊर्जा मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर (Pradyuman Singh Tomar) 7 दिन के अज्ञातवास से लौट आए है और अधिकारियों को सख्त निर्देश दिए है कि विद्युत (Electricity) ट्रिपिंग कम से कम होना चाहिये। ट्रिपिंग और उसमें सुधार का तुलनात्मक विवरण हर माह मुझे दें।वही उन्होंने आउटसोर्स कर्मचारियों (Outsourced Employees) और ठेकेदारों को समय से भुगतान करने के निर्देश दिए है।

यह भी पढ़े… MP School : कक्षा 6 से 8वीं तक के छात्रों को लेकर एक और बड़ा फैसला, ऐसे मिलेगा लाभ

दरअसल, मंगलवार को ऊर्जा मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर ने मध्यप्रदेश पावर ट्रांसमिशन कम्पनी (Madhya Pradesh Power Transmission Company) के कार्यों की समीक्षा की। इस दौरान उन्होंने कहा कि विद्युत वितरण कम्पनी (Power Distribution Company) और मध्यप्रदेश पावर ट्रांसमिशन कम्पनी आपस में समन्वय कर जरूरत के अनुसार ही विद्युत उप-केन्द्रों (Electrical Sub-Stations) का निर्माण करायें। विद्युत उप-केन्द्रों की क्षमता का पूरा उपयोग किया जाये। विद्युत उप-केन्द्र की स्थापना के पहले विद्युत लोड, वोल्टेज, सर्विस लाइन आदि के संबंध में पूरी एनालिसिस करें।

प्रद्युम्न सिंह तोमर ने कहा कि विद्युत ट्रिपिंग कम से कम होना चाहिये। ट्रिपिंग और उसमें सुधार का तुलनात्मक विवरण हर माह मुझे दें। उन्होंने कहा कि कम्पनी के कार्य-क्षेत्र में चल रहे सभी कार्यों को समय-सीमा में पूरा करवायें। आउटसोर्स कर्मचारियों को समय पर और सही वेतन दिलाना सुनिश्चित करें। उन्होंने कहा कि ठेकेदारों को भी भुगतान समय पर करें।

यह भी पढ़े.. Scholarship : छात्रों को एक और बड़ी राहत, अब इस तारीख तक कर सकते है आवेदन

प्रद्युम्न सिंह तोमर ने कहा कि आवश्यकतानुसार स्टाफ की ट्रेनिंग करवायें। ऊर्जा विभाग (Department of Energy) के कार्यों में एक साल के अंदर सकारात्मक परिवर्तन दिखना चाहिये। विद्युत उपभोक्ताओं का हित सरकार की सर्वोच्च प्राथमिकता है। उन्होंने कहा कि ऐसी व्यवस्था सुनिश्चित करें कि विद्युत उपभोक्ताओं (Power consumers) को समस्याओं के निराकरण के लिये भटकना नहीं पड़े।