BJP सांसद

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। भाजपा (BJP) ने मंगलवार को कांग्रेस (Congress) पर कोरोना (Covid-19) के दौरान देशवासियों में भ्रम फैलाने और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) की छवि को धूमिल करने का आरोप लगाया और कहा कि इस संकट काल में विपक्षी दल की ‘गिद्धों की राजनीति’ उजागर हुई है। जिस पर कांग्रेस ने पलटवार करते हुए कहा कि बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा (BJP national president JP Nadda) और प्रवक्ता संबित पात्रा (BJP Spokesperson Sambit Patra) के खिलाफ ‘जालसाजी’ की प्राथमिकी दर्ज करवाई जाएगी। जिसको लेकर अब भाजपा महासचिव कैलाश विजयवर्गीय (BJP general secretary Kailash Vijayvargiya) ने ट्वीट कर कांग्रेस पर हमला बोला है।

भाजपा महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने ट्वीट किया कि “चोरी ऊपर से सीना जोरी।” एक तो कांग्रेस ने टूलकिट बनाकर पीएम मोदी जी की छवि खराब करने की कोशिश की और जब पर्दाफाश हो गया तो जेपी नड्डा जी और संबित पात्रा जी के खिलाफ FIR कराने थाने पहुंच गये। कानून कांग्रेस नहीं है जो एक घर से चले। कानून नियम व कायदे से ही चलेगा। वहीं इससे पहले भी कैलाश विजयवर्गीय ने ट्वीट किया था कि “पीढ़ियां नहीं भूलेंगी कांग्रेस के ये घृणित कार्य।“ पीएम नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में केंद्र सरकार, पूरा देश व विश्व युद्ध स्तर पर महामारी का मुकाबला करने में जुटा है। और कांग्रेस द्वारा देश में नफरत व नकारात्मकता फैलाना निहायत निंदनीय व शर्मनाक है।

यह भी पढ़ें:-कांग्रेस जिलाध्यक्ष अजयसिंह रघुवंशी की शिवराज से मांग, कहा खाद के बढ़े दाम तत्काल वापस ले सरकार

यह है पूरा मामला

भाजपा ने मंगलवार को कांग्रेस पर कोरोना काल के दौरान देशवासियों में भ्रम फैलाने और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की छवि को धूमिल करने का आरोप लगाया और कहा कि इस संकट काल में विपक्षी दल की ‘गिद्धों की राजनीति’ उजागर हुई है। एक ‘टूलकिट’ का हवाला देते हुए भाजपा प्रवक्ता संबित पात्रा ने आरोप लगाया कि कोरोना के समय जब पूरा देश महामारी से लड़ रहा है तो कांग्रेस ने अपने राजनीतिक स्वार्थ के लिए भारत को पूरे विश्व में ‘अपमानित और बदनाम’ करने की कोशश की है।

क्या है टूलकिट?

टूलकिट एक प्रकार का दस्तावेज होता है। जिसमें अपने अभियान को आगे बढ़ाने के लिए बिंदुवार मुद्दे होते हैं। अपने अभियान को धार देने के लिए इन्हीं मुद्दों पर विरोधियों को घेरने के लिए प्रचार-प्रसार किया जाता है। हाल ही में किसान आंदोलन के दौरान भी एक टूलकिट सामने आया था जिसकी काफी चर्चा भी हुई थी।