PEB की शिक्षक पात्रता परीक्षा के नियम में बड़ा बदलाव करने जा रही कमलनाथ सरकार

भोपाल।

 मध्य प्रदेश प्रोफेशनल एग्जामिनेशन बोर्ड (पीईबी ) द्वारा आयोजित की जाने वाली प्राथमिक शिक्षक पात्रता परीक्षा में कमलनाथ सरकार बदलाव करने जा रही है।जिसके बाद प्राथमिक शिक्षक पात्रता परीक्षा का सर्टिफिकेट प्राइवेट स्कूलों में भी मान्य होगा। इस संबंध में सोमवार को पीईबी रूल बुक  जारी कर वेबसाइट पर अपलोड कर देगा।

इसके अलावा पीईबी परीक्षा प्रणाली में भी बड़े स्तर पर बदलाव करने जा रहा है। इसके लिए पीईबी प्रश्न बैंक तैयार कराने जा रहा है। हर परीक्षा का उसके सिलेबस के अनुसार अलग प्रश्न बैंक होगा। इसी प्रश्न बैंक में से परीक्षाओं में सवाल पूछे जाएंगे। प्रश्नों और उसके जवाबों की जांच करने के बाद ही प्रश्न बैंक में रखा जाएगा। इससे गलत सवाल या सही सवाल का गलत जवाब की आशंका भी पूरी तरह समाप्त हो जाएगी। इसके अलावा कभी कोई प्रश्न एक बार परीक्षा में आने के बाद दोबारा नहीं आएगा।

दूसरी खास बात ये है कि इस परीक्षा में उम्मीदवार के लिए कोई आयु सीमा का बंधन भी नहीं रहेगा। अब तक अनारक्षित और मध्य प्रदेश के बाहर के निवासियों के लिए अधिकतम उम्र सीमा 40 वर्ष थी। जबकि आरक्षित वर्ग के लिए मध्य प्रदेश के निवासियों के लिए अधिकतम आयु 45 वर्ष रहती थी। परीक्षा में सफल होने पर उम्मीदवार को जो सर्टिफिकेट मिलेगा वो दो साल के लिए वैध रहेगा।

आज से आवेदन होंगे शुरु

 प्रोफेशनल एग्जामिनेशन बोर्ड (पीईबी) द्वारा स्कूल शिक्षा विभाग के अंतर्गत प्राथमिक शिक्षक पात्रता परीक्षा-2020 के लिए आवेदन 6 जनवरी से आवेदन किया जा सकता है। इस परीक्षा के लिए ऑनलाइन आवेदन पत्र पीईबी के वेबसाइट के माध्यम से 6 से 20 जनवरी तक भरे जाएंगे। आवेदन शुल्क सामान्य वर्ग के अभ्यर्थियों के लिए 570 रुपए व आरक्षित वर्ग के लिए 320 रुपए निर्धारित किया गया है। फिलहाल आवेदन की अंतिम तारीख 21 जनवरी रखी गई है। अभ्यर्थी ऑनलाइन आवेदन पत्रों में संशोधन 25 जनवरी तक कर सकते हैं।