MP- सोनिया गांधी ने बुलाई बैठक, कमलनाथ दिल्ली रवाना, संगठन में बदलाव के संकेत

पूर्व मुख्यमंत्री और पीसीसी चीफ कमलनाथ (Kamal Nath) दिल्ली रवाना हो गए है। खबर है कि कमलनाथ प्रदेश अध्यक्ष और नेता प्रतिपक्ष में से कोई एक पद छोड़ सकते हैं।

kamalnath

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्यप्रदेश के प्रभारी मुकुल वासनिक(Mukul Wasnik) के दौरे और कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी द्वारा दिल्ली में बुलाई गई बैठक के बाद एमपी (MP) में बदलाव के संकेत मिल रहे है। बैठक में शामिल होने के लिए पूर्व मुख्यमंत्री और पीसीसी चीफ कमलनाथ (Kamal Nath) दिल्ली रवाना हो गए है। खबर है कि कमलनाथ प्रदेश अध्यक्ष और नेता प्रतिपक्ष में से कोई एक पद छोड़ सकते हैं।

यह भी पढ़े… MP News : कमलनाथ का बड़ा बयान- जिस दिन ऐसा हुआ, ले लूंगा राजनीति से संन्यास

दरअसल, देश में चल रहे किसान आंदोलन (Farmers Protest) और पार्टी में बढ़ती अंतर्कलह के बीच कांग्रेस (Congress) अध्यक्ष सोनिया गांधी (Sonia Gandhi) ने आज शनिवार को दिल्ली (Delhi) में एक बैठक बुलाई है।बैठक में उन नेताओं को भी आने को कहा गया है, जिन्होंने हाल ही में चिट्ठी लिखकर पार्टी में स्थायी अध्यक्ष समेत संगठन के चुनाव कर बदलाव करने की मांग की थी और जो लंबे समय से पार्टी से नाराज चल रहे है।

माना जा रहा है कि बैठक में नए अध्यक्ष के चुनाव को लेकर वरिष्ठ नेताओं के साथ चर्चा हो सकती हैं, चुंकी कांग्रेस के नए अध्यक्ष का चुनाव जनवरी (January) महीने के अंत तक होना है,ऐसे में पार्टी नेता एक बार फिर राहुल गांधी को अध्यक्ष बनाने की मांग कर सकते है।

यह भी पढ़े… सीबीडीटी की रिपोर्ट में कई खुलासे, दिग्विजय सिंह सहित इन नेताओं का नाम शामिल, हड़कंप

सुत्रों की माने तो पिछली मुलाकात में कमलनाथ ने कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी को सलाह दी थी कि उन्हें खुद पार्टी के इन वरिष्ठ नेताओं से मिलकर इनकी नाराजगी दूर करनी चाहिए, क्योंकि ये सभी पार्टी के वरिष्ठ नेता हैं और उनका अपना राजनीतिक कद है। इससे संगठन ना सिर्फ मजबूत होगा बल्कि पार्टी नेताओं में व्याप्त गिले शिकवे भी दूर होंगे।

वही इस बैठक से उपचुनाव (By-election) में मिली करारी हार और अंतर्कलह के चलते मध्यप्रदेश (Madhya Pradesh) में संगठन में भी बड़े बदलाव के संकेत मिल रहे है। नगरीय निकाय चुनाव (Urban Body Elections)  से पहले कई कांग्रेस विधायक इसकी मांग भी उठा चुके है।वही 28 दिसंबर (December) से मध्यप्रदेश विधानसभा (MP Legislative Assembly का शीतकालीन सत्र (Winter Session) भी शुरु होने वाला है,ऐसे में माना जा रहा है कि कमलनाथ प्रदेश अध्यक्ष या नेता प्रतिपक्ष में से कोई एक पद छोड़ सकते हैं।

इन मुद्दों पर हो सकती है चर्चा

सुत्रों की माने तो कमलनाथ ने सोनिया गांधी से कई मुद्दों पर चर्चा कर सकते है।इसमें उपचुनाव में मिली हार, नगरीय निकाय चुनाव की रणनीति,चुनाव में कालेधन वाला मामला, छिंदवाड़ा में राजनीति से संन्यास को लेकर दिए बयान और पार्टी में चल रही अंतर्कलह समेत कई मामलों पर चर्चा की जा सकती है। माना जा रहा है कि संन्यास लेने वाले बयान और चुनाव में काले धन वाले मामले को लेकर सियासत गर्म है, भोपाल (Bhopal) से दिल्ली (Delhi) तक सियासी गलियारों में कयासों का दौर चल रहा है ,ऐसे में कोई बड़ा फैसला लिया जा सकता है।  आने वाले दिनों में मध्यप्रदेश कांग्रेस में बड़ा बदलाव देखने को मिल सकता है।

वासनिक के दौरे से अटकलों को मिला बल

तीन दिवसीय दौरे पर मध्यप्रदेश (Madhya Pradesh) पहुंचे अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के महासचिव और प्रदेश के प्रभारी मुकुल वासनिक(Mukul Wasnik) ने भी कहा था संगठन में बदलावा की प्रक्रिया कभी रुक नहीं सकती है, हमारी कोशिश रहती है कि ऊर्जावान लोगों को साथ में जोड़ते रहे। संगठन को मज़बूत करते रहे और अनुभवी लोगों का नाम लेते रहे। संगठन को मजबूत करने के लिए हर कदम उठाएंगे, अगर जरूरत पड़ेगी तो कार्यकारिणी भी भंग करेंगे।वही शुक्रवार को उन्होंने जबलपुर (Jabalpur) में भी कहा था कि आने वाले चुनावों में उन को लोगो पर नज़र रखेंगे जिनकी वजह से पार्टी को नुकसान हो सकता है।