कमलनाथ की खुली चेतावनी- ”मिलावटखोरों प्रदेश छोड़ों”

Kamal-Nath's-warning-to-adulterers

भोपाल

मध्यप्रदेश में मिलावटियों के खिलाफ कमलनाथ सरकार का दिनों दिनों शिंकजा कसता ही जा रहा है।सरकार मिलावट को लेकर एक्शन मोड़ में नजर आ रही है।एक के बाद एक मिलावटखोरों पर कार्रवाई की जा रही है। मिलावट को नसूर और निस्तनाबूत करने वाले मुख्यमंत्री कमलनाथ ने अब मिलावटखोरों को खुली चेतावनी दी है। कमलनाथ ने उन्हें प्रदेश छोड़ने की चेतावनी देते हुए कहा है कि बहुत हो गया अब मिलावटखोरो प्रदेश छोड़ो। सीएम की इस चेतावनी की बाद मिलावटखोरों में ह़ड़कंप मच गया है।

दरअसल, मुख्यमंत्री कमलनाथ ने ट्वीटर के माध्यम से मिलावटखोरों को खुली चेतावनी दी है। सीएम ने एक के बाद एक कई ट्वीट कर उन्हें चेतावनी दी है । नाथ ने पहले ट्वीट में लिखा है कि ”अंग्रेजो भारत छोड़ो आंदोलन की आज वर्षगाँठ है। आज देखने में आ रहा है कि थोड़े से स्वार्थ व मुनाफ़े के लिये किस प्रकार मिलावटखोर लोगों के स्वास्थ्य के साथ खिलवाड़ कर रहे है,ज़हर बेचकर उन्हें मौत के आग़ोश में धकेल रहे है।”दूसरे ट्वीट में कमलनाथ ने लिखा है कि ” आज वक़्त आ गया है कि हम सब मिलकर मिलावटमुक्त प्रदेश का संकल्प लेते हुए नारा दे , बहुत हो गया अब “ मिलावटखोरो प्रदेश छोड़ो “ ”

मिलावट एक नासूर, निस्तनाबूत करके रहेंगें

इससे पहले कमलनाथ ने ट्वीट कर लिखा था कि दूध व दूध उत्पादक पदार्थों से शुरू हुआ मिलावट के ख़िलाफ़ हमारा अभियान सतत जारी है। प्रदेश को मिलावट मुक्त बनाने तक यह अभियान जारी रहेगा। प्रदेश में मिलावट के प्रतिदिन के ख़ुलासे से मिलावट की भयावह तस्वीर सामने आती जा रही है।उन्होंने लिखा था कि किस प्रकार थोड़े से स्वार्थ व मुनाफ़े की ख़ातिर लोगों के स्वास्थ्य के साथ जमकर खिलवाड़ किया जा रहा है। आश्चर्य इस बात का है कि इस गौरखधंधे को रोकने के लिये कोई ठोस प्रयास पहले नहीं हुए अन्यथा यह मर्ज़ जो आज एक गंभीर बीमारी बन चुका है,बन नहीं पाता।खाद्य पदार्थों में मिलावट को रोकने के लिये हम निरंतर कड़े क़दम उठा रहे है। मिलावट एक नासूर है , इसे हम हर हाल में नेस्तनाबूद करके रहेंगे।