Lockdown: बढ़े कोरोना के केस, सरकार का फैसला, राज्य के 61 गांवों में टोटल लॉकडाउन की घोषणा

जिला प्रशासन ने उन गांवों में Lockdown करने का फैसला किया, जिनमें 10 से अधिक कोरोना संक्रमित हैं।

Lockdown

मुंबई, डेस्क रिपोर्ट। देशभर में त्यौहार के मौसम (festive season) शुरू हो चुके हैं। इसके साथ ही एक बार फिर से कोरोना केसों (corona cases) में बढ़ोतरी देखी जा रही है। त्योहार सहित कोरोना केसों के मद्देनजर प्रदेश सरकार ने बड़ा फैसला लिया है। दरअसल प्रदेश के कुछ जिलों सहित 61 गांवों में टोटल लॉकडाउन (total lockdown) की घोषणा की गई है।

तीसरे कोरोना लहर (corona third wave) की आशंका को लेकर राज्य सरकार सतर्क है। ऐसे में पॉजिटिव केस ना बढ़े और कोरोना प्रोटोकॉल (corona protocol) का पालन होता रहे। इसका ध्यान रखना आवश्यक है। भले ही प्रदेश अनलॉक (unlock) की ओर बढ़ रहा है लेकिन प्रदेश के कुछ जिले सहित अहमदनगर जिले के 61 गांवों में सोमवार 4 अक्टूबर से दस दिनों के लिए Total Lockdown किया जायेगा।

Maharashtra जिला प्रशासन ने इन गांवों में तालाबंदी करने का फैसला किया, जिनमें 10 से अधिक कोरोना संक्रमित हैं। कोरोना संक्रमित पॉजिटिव रोगियों की संख्या में अहमदनगर महाराष्ट्र के शीर्ष पांच जिलों में शामिल है। पुणे 8,491 रोगियों के साथ चार्ट में सबसे ऊपर है। इसके बाद ठाणे (6,284), मुंबई (5,374), अहमदनगर (5,173) और सतारा (2,113) हैं।

Read More: MPPEB: 13 परीक्षाओं की समय सारणी जारी, 2022 में होगी पुलिस आरक्षक भर्ती परीक्षा

अहमदनगर में ठीक होने की दर 96.4 प्रतिशत है, जबकि मृत्यु दर 2.1 प्रतिशत है। 10 दिनों के लॉकडाउन के दौरान स्कूल, दुकानें और धार्मिक स्थल बंद रहेंगे जबकि आवश्यक सेवाएं चालू रहेंगी। जिला प्रशासन उन गांवों में कंटेनमेंट जोन की घोषणा करेगा, जहां मरीजों की संख्या अधिक है।

इन गांव में बाहरी लोगों का प्रवेश 10 दिनों के लिए प्रतिबंधित रहेगा। 61 गांवों में से 24 गांव संगमनेर तालुका के हैं। 3 अक्टूबर तक महाराष्ट्र में 35,888 सक्रिय मामले हैं। वर्तमान में 2,43,152 लोग होम क्वारंटाइन में हैं और 1,386 लोग संस्थागत क्वारंटाइन में हैं। राज्य में मृत्यु दर का मामला 2.12 प्रतिशत है।