इंदौर, आकाश धोलपुरे। प्रदेश के सीएम (CM) ने कोरोना (corona) के हॉट-स्पॉट रह चुके इंदौर (Indore) में आकर लोगों से अपील की थी कि अभी कोरोना गया नहीं है। लिहाजा, मास्क सहित सभी जरूरी नियमो का पालन सभी आवश्यक रूप से करें। वहीं जहां आम जनता को इस गलती का भुगतान चालान के रूप करना पड़ रहा है तो दूसरी तरफ प्रदेश के नेताओं पर बिना मास्क के जनता के बीच घूमना मानों आम बात हो गई है। और उन पर किसी भी प्रकार की कोई छलनि कार्रवाई भी नहीं होती है। ऐसा ही कुछ देखने को मिला इनडोर में। जहां लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग राज्य मंत्री बृजेन्द्र सिंह यादव (Brajendra Singh Yadav) बिना मास्क के दिखे और जब मीडिया से उनसे सवाल किया तो वो अपनी गलती मुस्कुराहट के पीछे छिपाने लगे।

यह भी पढ़ें…किसानों को लेकर मंत्री Kamal Patel का बड़ा ऐलान, नेमावर पर कही बड़ी बात

दरअसल, ये सब कुछ इंदौर प्रीतम लाल दुआ सभागृह में उस वक्त हुआ जब जल जीवन मिशन के तहत इंदौर और खरगोन मंडल के विभागीय अधिकारियों की समीक्षा बैठक ली जा रही थी। तभी मीडिया द्वारा मास्क को लेकर उठाये सवाल के जबाव में लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी राज्य मंत्री ब्रजेन्द्र सिंह ने मास्क नहीं पहनने पर कैमरे के सामने माफी भी मांगी। हालांकि अपनी मुस्कुराहट के पीछे वो अपनी गलती छिपाते दिखे। वहीं जैसे ही एक कर्मचारी ने मास्क को लेकर सवाल सुना तो उस कर्मचारी ने तुरंत मंत्री ब्रजेंद्र सिंह को मास्क लाकर दिया। जिसे पहनकर वो कोविड नियमो का पालन करने की अपील करते दिखाई दिए।

वहीं मंत्री ने बगैर मास्क पहने ही इसके पहले मीडिया से बातचीत में कहा कि उनका विभाग और वरिष्ठ अधिकारी समूचे प्रदेश में जल जीवन मिशन के तहत घर-घर तक शुद्ध पेयजल पहुंचाने की बात कही। उन्होंने कहा लक्ष्य 2024 का है लेकिन हम 2023 तक ही लक्ष्य को हासिल करेंगे। उन्होंने बताया कि इसी को लेकर प्रदेश के तमाम जिलों में जाकर समीक्षा की जा रही है। और इसके साथ ही धरातल पर काम हो उसके निरीक्षण भी किया जाएगा। इधर, जल स्रोतों को बढ़ाने के लिये उन्होंने कहा कि हमने जल संसाधन मंत्री तुलसी सिलावट से मांग की है कि जहां जरूरत हो वहां तालाब सहित अन्य जल संचय स्थल बनाये जाए।

यह भी पढ़ें…कैलाश विजयवर्गीय ने दिग्विजयसिंह पर साधा निशाना, कही ये बड़ी बात