देशभर के 200 से अधिक वाइस चांसलर ने राहुल गांधी को लिखा खुला पत्र, उनके ख़िलाफ़ कानूनी कार्रवाई की मांग

ये पत्र राहुल गांधी की उन टिप्पणियों के विरोध में है जिनमें उन्होंने कहा था कि अब विश्वविद्यालयों में कुलपतियों की नियुक्ति आरएसएस से उनके रिश्ते के आधार पर की जा रही है। इसे लेकर अपने पत्र में कुलपतियों ने लिखा है कि राजनीतिक लाभ के लिए उन्हें बदनाम करने की कोशिश की जा रही है। पत्र में दो सौ से अधिक वाइस चांसलर्स और शिक्षाविदों के हस्ताक्षर भी हैं।

Rahul

Vice Chancellors write open letter to Rahul Gandhi : 7 मई को देश में लोकसभा चुना के लिए तीसरे चरण का मतदान होने जा रहा है और इससे पहले बहुत सारे वाइस चांसलर और शिक्षाविद राहुल गांधी के ख़िलाफ़ एकजुट हो गए हैं। उन्होंने राहुल को एक खुला पत्र लिखा है और उनपर क़ानूनी कार्रवाई की माँग भी की है। ये मामला कुलपतियों की नियुक्ति को लेकर दिए गए उनके बयान से जुड़ा है।

देशभर के वाइस चांसलर्स ने राहुल गांधी को लिखा खुला पत्र

बता दें कि राहुल गांधी ने कुलपतियों पर टिप्पणी की थी कि विश्वविद्यालयों में कुलपतियों की नियुक्ति अब संघ से उनके रिश्ते के आधार पर की जा रही है। उन्होंने कहा था कि आरएसएस के लोगों को इन पदों पर भरा जा रहा है और अब इसके लिए उनकी योग्यता नहीं आरएसएस से उनके संबंध के आधार पर फ़ैसला हो रहा है। इसके बाद अब 200 से अधिक वाइस चांसलर और शिक्षाविदों ने उनके नाम खुला पत्र लिखा है। इसमें उन्होंने कहा है कि ‘कुलपतियों के चयन की प्रक्रिया में योग्यता, विद्वत्तापूर्ण विशिष्टता और ईमानदारी के मूल्यों पर आधारित कठोर, पारदर्शी कठोर प्रक्रिया की विशेषता है। चयन पूरी तरह से अकादमिक और प्रशासनिक कौशल पर आधारित है और विश्वविद्यालयों को आगे ले जाने की दृष्टि से किया गया है।’ पत्र में लिखा गया है कि राजनीतिक लाभ पाने के लिए राहुल गांधी कुलपतियों को बदनाम कर रहे हैं। इसी के साथ उनके ख़िलाफ़ क़ानूनी कार्रवाई की माँग भी की गई है।

Continue Reading

About Author
श्रुति कुशवाहा

श्रुति कुशवाहा

2001 में माखनलाल चतुर्वेदी राष्ट्रीय पत्रकारिता विश्वविद्यालय भोपाल से पत्रकारिता में स्नातकोत्तर (M.J, Masters of Journalism)। 2001 से 2013 तक ईटीवी हैदराबाद, सहारा न्यूज दिल्ली-भोपाल, लाइव इंडिया मुंबई में कार्य अनुभव। साहित्य पठन-पाठन में विशेष रूचि।