MP Board: 10वीं के रिजल्ट से असंतुष्ट छात्रों के लिए बड़ा मौका, जानें क्या बोले शिक्षा मंत्री

MP Board 10वीं के परीक्षा परिणाम के संबंध में छात्रों की शिकायतों के निवारण के लिये विशेष व्यवस्था की गई है।

MP Board

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) के माध्यमिक शिक्षा मंडल (MP Board of Secondary Education) ने 10वीं का रिजल्ट (MP Board 10th Result) जारी कर दिया है, ऐसे परीक्षार्थी जो अपने परीक्षा परिणाम से असंतुष्ट है वे टेंशन ना और 01 से 10 अगस्त 2021 के बीच परीक्षा में सम्मिलित होने के लिए एमपी ऑनलाइन पोर्टल  (mp online portal) पर पंजीयन करा सकते है। इसके लिए 1 सितंबर से 25 सितंबर के बीच परीक्षा  आयोजित की जाएगी, इन परीक्षार्थियों का परीक्षा परिणाम आगामी परीक्षा के आधार पर तैयार कर अंतिम रूप से मान्य किया जाएगा।

यह भी पढ़े.. MP Weather Update: मप्र में 3-4 दिन में फिर बदलेगा मौसम, आज इन जिलों में बारिश के आसार

दरअसल, बुधवार 14 जुलाई को स्कूल शिक्षा  मंत्री  इंदर सिंह परमार ने MP Board के 10वी के 9 लाख 14 हजार 79 विद्यार्थियों (Student) के परीक्षा परिणाम घोषित कर दिए गए है। इसमें 3 लाख 56 हजार 582 (39 प्रतिशत) प्रथम श्रेणी में, 3 लाख 97 हजार 626 (43.50 प्रतिशत) द्वितीय श्रेणी में और 1 लाख 59 हजार 871 (17.48 प्रतिशत) परीक्षार्थी तृतीय श्रेणी में उत्तीर्ण हुए है।किसी भी छात्र के फेल ना होने के चलते इस साल का परीक्षा परिणाम शत प्रतिशत रहा है, हालांकि इस बार मेरिट लिस्ट भी जारी नहीं की गई।

इसके अलावा MP Board माध्यमिक शिक्षा मण्डल में स्वाध्यायी परीक्षार्थियों का परीक्षाफल न्यूनतम उत्तीर्णांक प्रदान करते हुए तैयार किया गया है। कुल 79 हजार 188 स्वाध्यायी परीक्षार्थियों को तृतीय श्रेणी में उत्तीर्ण किया गया है। इस प्रकार परीक्षार्थियों का परीक्षा परिणाम शत-प्रतिशत रहा है।इस बार 10वीं के परीक्षा परिणाम में प्रत्येक विद्यार्थियों की प्री बोर्ड तथा आंतरिक मूल्यांकन के आधार पर परीक्षा परिणाम तैयार किए गए हैं इसमें परीक्षा में फेल होने वाले नियमित व प्राइवेट छात्रों को 33 अंक देकर उन्हें पास घोषित किया गया है।

यह भी पढ़े.. किसान सम्मान निधि: जल्द आने वाली है 9वीं किस्त, ना करें ये गलती वरना अटक सकता है पैसा

स्कूल शिक्षा मंत्री इंदर सिंह परमार (MP School Education Minister Inder Singh Parmar) ने कहा है कि कोरोना काल की विशेष परिस्थितियों में वैज्ञानिक आधार पर छात्रों के भविष्य को ध्यान में रखते हुए MP Board परीक्षा परिणाम तैयार किया गया है। सभी विद्यार्थियों को उत्तीर्ण किया गया है। किसी भी विद्यार्थी को पूरक प्रदान नहीं किया गया है। यदि कोई विद्यार्थी अपने परीक्षा परिणाम से असंतुष्ट है या जिनका परीक्षा (10th Board Exams) परिणाम अनुपस्थित दर्शाते हुए घोषित किया गया है। तो वे माह सितम्बर में आयोजित होने वाली परीक्षा में अथवा किसी विषय विशेष की परीक्षा में सम्मिलित हो सकते है

3 महिने के अंदर सुधार सकते है ये त्रुटि

MP Board 10वीं के परीक्षा परिणाम के संबंध में छात्रों की शिकायतों के निवारण के लिये विशेष व्यवस्था की गई है। यदि किसी छात्र को अंकों के संबंध में कोई शिकायत है तो वह एमपी ऑनलाइन पोर्टल पर बनाए गए विशेष साफ्टवेयर के माध्यम से अपना अनुक्रमांक एवं आवेदन क्रमांक अंकित कर मूल अंक, कटौती उपरांत प्रदत्त अंक तथा शाला के औसत अंकों के बारे में जानकारी प्राप्त कर सकता है।परीक्षार्थियों को दी जा रही अंकसूची में यदि किसी प्रकार की लिपिकीय त्रुटि है तो परीक्षा परिणाम घोषित होने की तिथि से 3 माह की अवधि तक उसे ठीक कराने के लिये आवेदन कर सकते है, जो नि:शुल्क रहेगा। तीन माह के बाद सुधार कराने वाले छात्र-छात्राओं को सशुल्क आवेदन करना होगा।

यह भी पढ़े.. MP School: RTE एडमिशन के लिए मंत्री इंदर सिंह परमार ने खोली लॉटरी, 28 हजार बच्चों के फॉर्म रिजेक्ट