MP Board: 10वीं-12वीं छात्रों के लिए बड़ी खबर, परीक्षा पैटर्न में बदलाव, यह होंगे नए नियम

MP Board 10वीं-12वीं की परीक्षा में 25% अंक ऑब्जेक्टिव पूछे जाते थे जबकि ऑब्जेक्टिव प्रश्नों की संख्या 40% तक कर दी गई है।

mp board

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्य प्रदेश माध्यमिक शिक्षा मंडल (MPBSE) ने MP Board 10वीं 12वीं के परीक्षा परिणाम (exam result)  को सुधारने के लिए एक नया प्रयोग शुरू किया है। माध्यमिक शिक्षा मंडल (Board of Secondary Education) द्वारा 10वीं और 12वीं बोर्ड परीक्षा का पैटर्न बदला गया है। जिसके बाद अब प्रश्नपत्र में 40% अंक ऑब्जेक्टिव होंगे इसके साथ ही परीक्षा पास करने के लिए 33% अंक लाना अनिवार्य होगा।

दरअसल पिछले कई सालों से मध्य प्रदेश सरकार 10वीं-12वीं के परीक्षा परिणाम को सुधारने के लिए प्रयोग कर रहे हैं इससे पहले बेस्ट ऑफ फाइव लागू किया गया था। वहीं अब परीक्षा पैटर्न में एक बार फिरMP Board: 10वीं 12वीं छात्रों के लिए बड़ी खबर, परीक्षा पैटर्न में बदलाव, यह होंगे नए नियम से बदलाव किया गया है। नए सत्र 2021 के लिए परीक्षा के पैटर्न को बदले जाने पर स्कूल शिक्षा मंत्री इंदर सिंह परमार (inder singh parmar)  ने कहा कि नई शिक्षा नीति के अनुसार MP Board की परीक्षा में पैटर्न में बदलाव किया गया है। जिससे छात्रों के लिए 10वीं और 12वीं की बोर्ड परीक्षा पास करना और आसान हो जाएगा।

Read More: दुर्गा प्रतिमाओं के विसर्जन के लिए नई गाइडलाइन जारी, इन बातों का रखना होगा विशेष ध्यान

वहीं MP Board 10वीं और 12वीं के लिए बदले हुए परीक्षा पैटर्न के अनुसार 10वीं और 12वीं के मूल्यांकन 80% सिद्धांत और 20% अंक प्रोजेक्ट के लिए मान्य किए गए हैं। वही 12वीं के मूल्यांकन 70% अंक प्रायोगिक विषयों में सैद्धांतिक और 30% अंक प्रोजेक्ट के रहेंगे।

इसके अलावा सत्र 2022-23 में कक्षा 10वीं और 12वीं में तबला, गायन वादन के लिए दो प्रश्न पत्र बनाए जाएंगे। साथ ही 10वीं और 12वीं के सभी विषयों में सैद्धांतिक प्रश्न पत्र में 40%, प्रश्न वस्तुनिष्ठ जबकि 40% आधारित प्रश्न और 20% विश्लेषणात्मक प्रश्न रहेंगे।

बता दे कि MP Board 10वीं-12वीं की परीक्षा में 25% अंक ऑब्जेक्टिव पूछे जाते थे जबकि ऑब्जेक्टिव प्रश्नों की संख्या 40% तक कर दी गई है। वहीं इसी सत्र से लागू किए जाएंगे। इससे पहले लोक शिक्षण संचनालय द्वारा ब्लूप्रिंट को 24 सितंबर से आयोजित होने वाली तिमाही परीक्षा में लागू कर दिया गया है।