MP Board: 9वीं से 12वीं तक की परीक्षा को लेकर सरकार का बड़ा फैसला, दिशा निर्देश जारी

स्कूल से प्रश्न पत्र वितरण करने का समय सुबह 9:00 से दोपहर 12:00 बजे तक रखा गया है। हालांकि इस समय में बदलाव की जिम्मेदारी स्कूल प्राचार्य पर सौंपी गई है।

mp board

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्य प्रदेश (madhya pradesh) में लगातार कोरोना (corona) के बड़े मामले सामने आ रहे हैं। इसी बीच MP Board की 9वी और 11वीं की वार्षिक परीक्षा (annual exam) और 10वीं और 12वीं की प्री बोर्ड परीक्षा (pre-board exam) भी आयोजित की जानी है। इससे पहले 10वीं और 12वीं की प्री बोर्ड परीक्षा तथा 9वी और 11वीं की वार्षिक परीक्षा को लेकर लोक शिक्षण संचालनालय (Directorate of public education) ने दिशा निर्देश जारी किए हैं।

दरअसल लोक शिक्षण संचालनालय (Directorate of public education) ने दिशा निर्देश जारी करते हुए कहा है कि 10वीं और 12वीं की प्री बोर्ड परीक्षा ओपन बुक पद्धति (open book system) के माध्यम से होगी। वही 9वी और 11वीं की वार्षिक परीक्षा भी ओपन बुक पद्धति पर आयोजित की जाएगी। इस मामले में स्कूलों के प्राचार्य को निर्देश जारी किए गए। जिसमें कहा गया है कि प्रदेश में विभिन्न जगह पर लॉकडाउन (lockdown) लगाए गए हैं। उसकी स्थानीय परिस्थितियों को देखकर ही 9वी और 11वीं की वार्षिक परीक्षा तथा 10वीं और 12वीं की प्री बोर्ड परीक्षा को आयोजित किया जाए।

इसके अलावा आदेश जारी करते हुए कहा गया है कि 12 अप्रैल को परीक्षाओं के लिए टाइम टेबल (Time table) जारी किया गया था लेकिन कोरोना के बढ़ते संक्रमण और जिले में लगे लॉकडाउन की परिस्थितियों को देखते हुए समय सारणी के मुताबिक परीक्षा नहीं कराई जा सकती। इस मामले में लोक शिक्षण संचालनालय ने कहा कि 12 अप्रैल या जिस दिन भी जिले में लॉकडाउन खुले। उस दिन स्थानीय परिस्थिति को देखते हुए सभी प्रश्न पत्र और आंसर शीट एक साथ बच्चों को उपलब्ध कराई जाए। वही स्कूल से प्रश्न पत्र वितरण करने का समय सुबह 9:00 से दोपहर 12:00 बजे तक रखा गया है। हालांकि इस समय में बदलाव की जिम्मेदारी स्कूल प्राचार्य पर सौंपी गई है।

Read More: दमोह उपचुनाव: कांग्रेस प्रत्याशी अजय टंडन का बड़ा बयान- हो सकती है हत्या

प्रश्न पत्र हल करने के बाद 1 तारीख निश्चित कर प्राचार्य अपने स्तर से बच्चों से उत्तर पुस्तिका वापस प्राप्त कर सकेंगे। इसके अलावा छात्रावास में रहने वाले विद्यार्थी अपने नजदीकी स्कूल से उत्तर पुस्तिका और प्रश्न पत्र प्राप्त करेंगे और प्रश्न पत्र हल करने के बाद उत्तर पुस्तिका नजदीकी स्कूल में ही जमा करेंगे। जिसके बाद संबंधित स्कूल विद्यार्थियों का उत्तर पुस्तिका मूल्यांकन उसके मूल संस्था को उपलब्ध करवाएंगे। वही उत्तर पुस्तिकाओं का मूल्यांकन विद्यालय के शिक्षकों द्वारा ही किया जाएगा। इसके अलावा यदि शिक्षक चाहे तो उत्तर पुस्तिका घर ले जाकर उसका मूल्यांकन कर सकेंगे।

इस मामले में लोग शिक्षण आयुक्त जयश्री कियावत ने कहा कि प्रदेश में कोरोना की बढ़ती स्थिति और विद्यार्थियों की सुरक्षा को ध्यान में रखकर निर्णय लिया गया है। वही सभी विद्यालय के प्राचार्य सुनिश्चित करेंगे कि पिछले वर्ष की तरह ही 30 अप्रैल 2021 तक इस वर्ष भी विमर्श पोर्टल पर परीक्षा परिणाम प्रदर्शित कर दिया जाए। सभी सरकारी स्कूलों में कक्षा 9वीं से 12वीं तक के विद्यार्थियों के लिए परीक्षा की तैयारी को ध्यान में रखते हुए 9 और 10 अप्रैल को अध्ययन अवकाश दिया जा रहा है।

इसके साथ ही सभी सरकारी स्कूल आगामी आदेश तक प्रतिदिन सुबह 9:00 से 12:00 बजे तक खुले रहेंगे। जबकि 9वी और 11वीं की वार्षिक परीक्षा और 10वीं–12वीं की प्री बोर्ड परीक्षा के लिए विद्यार्थियों को प्रश्न पत्र वितरित किए जाएंगे। वहीं छात्र घर पर रहकर ही प्रश्नों को हल कर उत्तर पुस्तिका समय सीमा के अंदर विद्यालय में जमा करेंगे।

MP Board: 9वीं से 12वीं तक की परीक्षा को लेकर सरकार का बड़ा फैसला, दिशा निर्देश जारी