MP Board: CG में मंगलवार से 12वीं की परीक्षा, जून के पहले सप्ताह में मप्र का फैसला

mp board

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट।  1 जून से ओपन बुक प्रणाली (Open Book System) के तहत छत्तीसगढ़ माध्यमिक शिक्षा मंडल, रायपुर (CGBSE) की 12वीं बोर्ड की परीक्षा शुरु होने जा रही है। इसके तहत 12वीं के छात्र (Student) प्रश्नपत्र और उत्तर-पुस्तिकाओं को घर ले जाकर 5 जून तक पेपर हल कर स्कूल (School) में जमा कराएंगे। लेकिन अब तक मध्य प्रदेश माध्यमिक शिक्षा मंडल (MP Board) का फैसला नहीं हो पाया है कि आखिर 12वीं परीक्षा(MP Board 12th Exam 2021) कब आयोजित होंगी।

यह भी पढ़े… MP Board: कक्षा 9 वीं और 11वीं के परीक्षा परिणाम घोषित, छात्रों को मिलेंगे ये अवसर

संभावना जताई जा रही है कि  जून के पहले सप्ताह में स्थितियों को देखते हुए 12वीं की परीक्षाओं को लेकर अंतिम फैसला लिया जा सकता है।सुत्रों के अनुसार, MP Board द्वारा ऑफलाइन पैटर्न पर जुलाई 2021 में परीक्षाएं करवाई जा सकती है। यह परीक्षा सभी विषयों पर ना करवाकर मुख्य तीन विषयों के लिए होगी, जबकी दो विषयों के नंबर तीन विषयों की परीक्षा के आधार पर दिए जा सकते है। वही मंडल द्वारा परीक्षा से लेकर रिजल्ट घोषित करने का ढाई माह का शेड्यूल तैयार किया है। हालांकि, परीक्षा को लेकर जून के पहले सप्ताह में निर्णय लिया जाएगा

दरअसल, बीते दिनों स्कूल शिक्षा (स्वतंत्र प्रभार) राज्य मंत्री  इन्दर सिंह परमार (Inder Singh Parmar) ने बयान जारी कर कहा था कि जून के प्रथम सप्ताह में  स्थिति को देखते हुए 12वीं की परीक्षा (MP Board Exam 2021) के आयोजन के संबंध में आवश्यक निर्णय लिया जायेगा।निर्णय लेते समय परीक्षार्थियों के स्वास्थ्य और सुरक्षा को सर्वोच्च वरीयता दी जायेगी।स्कूल शिक्षा विभाग (School Education Department) द्वारा 12वीं की परीक्षा की आवश्यक तैयारियाँ पूर्व में ही कर ली गयी हैं। फिलहाल परीक्षा प्रणाली में कोई परिवर्तन प्रस्तावित नहीं है। परिस्थितियाँ अनुकूल होने पर पुराने पैटर्न के अनुसार ही परीक्षाएँ आयोजित की जायेंगी।

यह भी पढ़े.. NTPC Recruitment 2021: सरकारी नौकरी पाने का सुनहरा मौका, सैलरी 1 लाख पार

स्कूल शिक्षा मंत्री इंदर सिंह परमार ने कहा था 12वीं की परीक्षा में सिर्फ प्रमुख विषयों की परीक्षा आयोजित करवाई जाएगी।CBSE द्वारा 1 जून को टाइम टेबल घोषित करने का इंतजार किया जा रहा है। CBSE और MP Board की परीक्षा खत्म होने में 1 सप्ताह से ज्यादा का समय नहीं रखा जाएगा।सीबीएसई 12वीं की परीक्षा के बाद NEET-JEE जैसी प्रतियोगी परीक्षाएं भी होनी है। इससे पहले 12वीं की परीक्षा को आयोजित करना अनिवार्य है।हालांकि अभी इस पर अंतिम निर्णय होना बाकी है। संभावना है कि जून के पहले हफ्ते में 12वीं की परीक्षा को लेकर स्थित एक दम साफ हो जाएगी।

बता दे कि MP Board द्वारा 12वीं की परीक्षा 1 मई से शुरू होने थी, लेकिन हालातों को देखते हुए स्कूल शिक्षा विभाग ने 1 महीने के लिए टालने फैसला किया था।12वीं की परीक्षा में करीब साढ़े 7 लाख विद्यार्थी शामिल होंगे। इसको लेकर मंडल ने पूरी तैयारी कर ली है और पेपर-परीक्षा सामग्रियां भी पूर्व में ही छप चुकी है, ऐसे में अब बस स्कूल शिक्षा विभाग की तरफ से ग्रीन सिग्नल मिलते ही आगे की प्रक्रिया शुरु की जाएगी। संभावना जताई जा रही है कि ऑफलाइन प्रणाली के तहत जुलाई में परीक्षाएं आयोजित की जा सकती है।