MP: फिर बढ़ी कोरोना की रफ्तार, शुरू हुई होम आइसोलेशन की व्यवस्था, सीएम शिवराज ने कही ये बड़ी बात

Bhopal कोरोना के 65 एक्टिव मामलों में से 33 को होम आइसोलेशन में रखा गया है जबकि 32 संक्रमित अभी भी अस्पताल में भर्ती हैं।

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्यप्रदेश (MP) में कोरोना संक्रमित (corona positive)  मरीजों का आंकड़ा बढ़ता जा रहा है 7 दिन में अकेले राजधानी भोपाल में 46 नए मामले देखने को मिले हैं। वहीं दिसंबर महीने में कुल 137 संक्रमित मरीज राजधानी भोपाल से सामने आ चुके हैं। हालांकि कोरोना के बढ़ते मामले को लेकर प्रशासन सचेत हो गया और भोपाल में होम आइसोलेशन (home isolation) की व्यवस्था शुरू कर दी गई है। वहीँ सीएम शिवराज (CM Shivraj)  ने कहा कि प्रदेश में 22 दिसम्बर को प्रदेश में पुन: टीकाकरण महाअभियान होगा। सीएम शिवराज ने कहा – आओ एक बार फिर हम सब मिल कर कोरोना की जंग में अपना योगदान दें और शत-प्रतिशत टीकाकरण में अपनी सहभागिता सुनिश्चित करें।

कोरोना के बढ़ते मामले को देख कर राज्य सरकार ने एक बार फिर से प्रदेश में वैक्सीनेशन महा अभियान का आयोजन किया है। आज बुधवार को प्रदेश में वैक्सीनेशन महा अभियान की शुरुआत की जाएगी बता दें कि इससे पहले दिसंबर महीने में मध्य प्रदेश में कुल 347 नए मामलों की पुष्टि हुई थी हालांकि इसमें सबसे ज्यादा पॉजिटिव राजधानी भोपाल में 137 देखे गए थे जबकि दूसरे नंबर पर आर्थिक राजधानी इंदौर 131 संक्रमित मिले थे।

राजधानी में कोरोना के बढ़ते मरीजों को देखते हुए एक बार फिर से hom आइसोलेशन की व्यवस्था शुरू की गई है। Bhopal कोरोना के 65 एक्टिव मामलों में से 33 को होम आइसोलेशन में रखा गया है जबकि 32 संक्रमित अभी भी अस्पताल में भर्ती हैं।

Read More : MP News : 21,584 करोड़ का अनुपूरक बजट पेश, विकास कार्यों पर खर्च किए जाएंगे 3199 करोड़ रुपए

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि मध्यप्रदेश शत-प्रतिशत वैक्सीनेशन की दिशा में तेजी से आगे बढ़ रहा है। प्रधानमंत्री मोदी द्वारा उपलब्ध करवाई गई नि:शुल्क वैक्सीन का सर्वाधिक उपयोग करने में मध्यप्रदेश ने अग्रणी भूमिका निभाई है। प्रदेश में वैक्सीनेशन के लिए टीकाकरण महाअभियान की चलाई गई श्रंखला में कई बार राष्ट्रीय रिकार्ड कायम किया।

जिसके परिणामस्वरूप शीघ्र ही प्रदेश की पात्र आबादी को हम वैक्सीन की दोनों डोज लगाने के लक्ष्य प्राप्त कर लेंगे। सीएम शिवराज ने कहा कि प्रदेश में 22 दिसम्बर को प्रदेश में पुन: टीकाकरण महाअभियान होगा। सीएम शिवराज ने कहा कि प्रदेशवासियों को कोरोना संक्रमण से सुरक्षा कवच प्रदान करने में जन-भागीदारी की महत्वपूर्ण भूमिका रही है।इसमें सामाजिक एवं स्वयंसेवी संस्थाओं, धर्मगुरूओं, कोरोना वॉलेंट्रियर्स, शिक्षक, आँगनवाड़ी कार्यकर्ता, सहायिका, विभिन्न विभागों के मैदानी अमले सहित जन-प्रतिनिधियों ने सक्रिय भूमिका निभाई है।

सीएम ने कहा मंत्रि-परिषद के सदस्यों ने भी अपने प्रभार के जिलों में टीकाकरण के प्रति जागरूकता लाने के लिए नागरिकों को प्रेरित किया है। सभी के समन्वित प्रयासों से आज मध्यप्रदेश की 95 प्रतिशत आबादी को वैक्सीन की प्रथम डोज और 85 प्रतिशत आबादी को वैक्सीन की दोनो डोज लग चुकी हैं।

सीएम शिवराज ने प्रदेशवासियों से अपील की है कि वे भी ऐसे नागरिकों को चिन्हित करने में जिला प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग का सहयोग करें, जिन्होंने अभी तक वैक्सीन नहीं लगवाई है। ऐसे लोगों का प्राथमिकता के आधार पर वैक्सीनेशन करवाना हम सब की जिम्मेदारी भी है।

मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि मुझे यह जान कर बड़ी प्रसन्नता होती है कि हमारा स्वास्थ्य विभाग का अमला दुर्गम एवं दूरस्थ ग्रामों में भी पहुँचकर ग्रामीणों को वैक्सीन लगा रहे हैं। उनके द्वारा की जा रही इस मानवीय सेवा के दुर्लभ फोटो जब हमें देखने को मिलते हैं, तो सभी प्रदेशवासियों को उन पर गर्व भी होता है। सीएम शिवराज ने प्रदेशवासियों का आव्हान किया है कि कोरोना टीकाकरण के लिए सब एकजुट होकर प्रयास करें कि प्रदेश की पूरी पात्र आबादी को शत-प्रतिशत वैक्सीन की दोनों डोज शीघ्र लग जाए। इससे देश का ह्रदय प्रदेश मध्यप्रदेश कोरोना से पूरी तरह सुरक्षित हो सके।