वरिष्ठ नागरिकों

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्य प्रदेश (madhya pradesh) में केंद्र सरकार (central government) के साथ मिलकर प्रदेश के वरिष्ठ नागरिकों के लिए राष्ट्रीय हेल्पलाइन सेवा (National Helpline Service) शुरू की जा रही है। प्रदेश में इसके लिए तैयारियां पूरी कर ली गई है। अब प्रदेश के वरिष्ठ नागरिक हेल्पलाइन का प्रयोग करके अपनी समस्याओं या प्रश्नों का समाधान ले पाएंगे। वही कॉल सेंटर पर प्राप्त हुई प्रश्न या समस्याओं का जल्द निपटारा किया जाएगा।

दरअसल देश की मोदी सरकार ने देश के वरिष्ठ नागरिकों के लिए राष्ट्रीय हेल्पलाइन शुरू की है। केंद्र सरकार द्वारा मध्य प्रदेश को 88 लाख की राशि उपलब्ध कराई जा चुकी है। प्रदेश में भी वरिष्ठ नागरिकों के लिए राष्ट्रीय हेल्पलाइन नंबर शुरू की जाएगी। हेल्पलाइन नंबर पर आने वाली शिकायतों का निराकरण कर घटनाओं को दूर किया जाएगा। वहीं उन्हें आ रही समस्याओं का भी समाधान करेगी।

Read More: शुक्रवार को छत्रसाल कन्वेंशन सेंटर खजुराहो का लोकार्पण करेंगे CM शिवराज सिंह चौहान, बढ़ेगा रोजगार

इस मामले में सामाजिक न्याय और निशक्तजन कल्याण मंत्री प्रेम सिंह पटेल का कहना है कि एनआईएसडी द्वारा नेशनल हेल्पलाइन लागू करने का निर्णय लिया गया है।। फिलहाल हेल्पलाइन का नंबर 14567 रखा गया है। प्रदेश के वरिष्ठ नागरिक कॉल सेंटर पर शिकायत और समस्या दर्ज करा सकेंगे। वहीं कॉल करने वाले नागरिकों की पहचान गोपनीय रखी जाएगी और कॉल से संबंधित रिकॉर्ड रखा जाएगा। कॉल सेंटर में आई शिकायतों और समस्याओं का जल्द निपटारा करने का प्रयास किया जाएगा।

बता दें कि राष्ट्रीय सीनियर सिटीजन हेल्पलाइन देश के वरिष्ठ नागरिकों के जीवन को आसान बनाने के लिए शुरू किया जा रहा है। इसमें उत्पीड़न, पेंशन प्रकरण, सुरक्षा, चिकित्सा आदि विभिन्न समस्याओं का समाधान किया जाएगा। वहीं वरिष्ठ नागरिकों द्वारा इन मामलों की शिकायत हेल्पलाइन नंबर के जरिए दर्ज कराई जा सकेगी। जिसके बाद प्रदेश के विभिन्न विभाग और संगठन साथ मिलकर कॉल सेंटर पर प्राप्त शिकायत और समस्याओं का निपटारा करेंगे।