MP: कोरोना को लेकर सरकार की नई गाइडलाइन, इन नियमों में हुए बदलाव

दरअसल पिछले दिनों कोरोना (corona) के 2173 नए मामले सामने आए थे। जिसके बाद शिवराज सरकार (shivraj government) की नई गाइडलाइन जारी की गई है।

Corona

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्यप्रदेश (madhya pradesh) में बढ़ते मामले के बीच पहले सरकार ने नई गाइडलाइन (New guideline) जारी की है। दरअसल पिछले दिनों कोरोना (corona) के 2173 नए मामले सामने आए थे। जिसके बाद शिवराज सरकार (shivraj government) की नई गाइडलाइन जारी की गई है। जिसके मुताबिक गंभीर मरीजों को अस्पताल में मुहैया कराया जाएगा। वही कम लक्षण दिखने वाले को कोविड सेंटर (covid center) भेजा जाएगा। जबकि आइसोलेशन (isolation) के नियम में बदलाव किया गया है।

गाइडलाइन के मुताबिक कोरोना से गंभीर मरीजों को प्राथमिकता से हॉस्पिटल में बेड उपलब्ध कराए जाएंगे। इसके अलावा किसी व्यक्ति की रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव आती है लेकिन 10 दिन तक उसके अंदर लक्षण नहीं दिखाई देते हैं तो उसे कोविड सेंटर में रखा जाएगा। अगर 3 दिन तक बुखार नहीं आता है तो उसकी होम आइसोलेशन की अवधि समाप्त कर दी जाएगी। हालांकि रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद नेगेटिव आने तक 1 सप्ताह तक घर में ही रहना होगा।

इसके अलावा जिन मरीजों की रिपोर्ट पॉजिटिव आती है। उनमें लक्षण दिखाई नहीं देते हैं तो उन्हें आइसोलेशन में ही रखा जाएगा भले ही उनकी उम्र 60 वर्ष से अधिक हो। हालाकि कोविड सेंटर के जरिए उनकी निगरानी की जाएगी। होम आइसोलेशन में रहने वाली मरीजों की निगरानी के लिए जिला कोविड-कमांड सेंटर को नई किट सुनिश्चित करने के लिए निर्देश दिए गए है। इसके अलावा होम आइसोलेशन के मरीजों में लक्षण दिखाई देने के बाद उन्हें तत्काल कोविड सेंटर में भर्ती कराया जाएगा।

Read More: मप्र के किसानों के लिए शिवराज सरकार का एक और बड़ा फैसला

मरीजों को हम आइसोलेशन में 7 तरह की गोलियां रखनी अनिवार्य होगी। इन गोलियों का सेवन लक्षण के दौरान करेंगे। जिसमें tablet azithromycin 500 mg, tablet multivitamin, tablet cetrizine 10mg, टेबलेट पेरासिटामोल 500mg, tablet ranitidine 150 mg, tablet zinc 20 mg, Tab Vitamin C 1000mg शामिल है।

वही नए निर्देश के मुताबिक पॉजिटिव रिपोर्ट आने के बाद मरीज अगर घर में है। 10 दिन तक उसमें लक्षण नहीं दिखाई देते हैं और 3 दिन तक बुखार नहीं आने पर उसकी होम आइसोलेशन की अवधि समाप्त कर दी जाएगी। लेकिन 1 सप्ताह के लिए उसे घर में रहना अनिवार्य होगा।