मप्र पंचायत चुनाव 2021: अधिकारियों-कर्मचारियों के लिए काम की खबर, दिशा-निर्देश जारी

इसके अलावा पंचायत चुनाव के आम निर्वाचन में मतदान केन्द्रों के भवन अथवा नाम परिवर्तन किए जाने के लिए ऑनलाईन कंट्रोल टेबल खोलने की अनुमति महाप्रबंधक MPSEDC भोपाल को प्रदाय कर निर्देशित किया गया है।

पंचायत चुनाव

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्य प्रदेश में पंचायत चुनावों (MP Panchayat Election 2021) को लेकर तैयारियां जोरों पर है। जिले वार अधिकारियों-कर्मचारियों की नियुक्ति की जा रही है वही कलेक्टरों को भी जिम्मेदारियां सौंपी जा चुकी है। संभावना जताई जा रही है नवंबर में कभी भी आचार संहिता (Code of conduct) लग सकती है और दिसंबर में मतदान कराए जा सकते है। इसी कड़ी में पंचायत निर्वाचन की सूचना जारी करने संबंधी दिशा-निर्देश जारी कर दिए है वही पंचायत चुनावों 2020-21 के मतदान दल गठन के लिए ऑनलाइन पोर्टल EPDS पर जानकारी दर्ज करने के भी निर्देश दिए गए है।

यह भी पढ़े.. MP Corona: मप्र में एक्टिव केस 100 पार, फिर 7 नए पॉजिटिव, भोपाल-इंदौर ने बढ़ाई चिंता

दरअसल, आगामी त्रि-स्तरीय पंचायतों के आम निर्वाचन के लिए जिला पंचायत सदस्य, जनपद पंचायत सदस्य, सरपंच एवं पंच के लिए निर्वाचन की सूचना केवल IEMS के माध्यम से जारी किया जाना है। आयोग द्वारा जारी निर्वाचन कार्यक्रम के अनुसरण में जिले में रिक्त पदों की स्थिति को दृष्टिगत रखते हुए निर्वाचन की सूचना जारी करना होगी। जारी करने के पूर्व जिला पंचायत, जनपद पंचायत, ग्राम पंचायत, वार्डों की संख्या मतदान केन्द्र की जाँच व मिलान किया जाना आवश्यक है।पंचायत निर्वाचन के लिए DEO लॉगिन से निम्नानुसार मेपिंग का कार्य के निर्देश दिए गए हैं।

इसके साथ ही ग्राम पंचायत, जिला पंचायत, वार्ड के साथ मेपिंगl ग्राम पंचायत की, जनपद पंचायत, वार्ड के साथ मेपिंग। जनपद पंचायत की जिला पंचायत वार्ड के साथ मेपिंग।  पंचायत के लिए आरक्षण की स्थिति की त्रुटिरहित प्रविष्टि जिला स्तर पर किया जाना है। प्रविष्टि उपरांत आरक्षण की स्थिति की जाँच एवं मिलान करें। आरक्षण की प्रविष्टि के अभाव में निर्वाचन की सूचना जेनरेट नहीं हो सकेगी। आरक्षण की प्रविष्टि केवल उन पदों के लिए की जाए जिनकी प्रविष्टि रिक्त पदों के लिए की गई है। निर्वाचन की सूचना जारी करने के लिए IEMS एप्लिकेशन में पदों का विवरण जिनके लिए निर्वाचन होगा, रिटर्निंग ऑफिसर का नाम पदनाम नामनिर्देशन पत्र प्राप्ति का स्थान नामनिर्देशन पत्रों की संवीक्षा का स्थान, अभ्यर्थिता वापस लेने का स्थान मतों की गणना करने का स्थान की जानकारी की प्रविष्टि जिला निर्वाचन अधिकारी द्वारा की जायेगी।

यह भी पढ़े.. पेंशनभोगियों के लिए बड़ी खबर, अटक सकती है नवंबर की पेंशन, जानें क्यों

सामान्य तौर पर जिलों में ग्राम पंचायतों के समूह बनाकर सेक्टर स्तर पर नामनिर्देशन पत्र प्राप्त करने सम्बंधी कार्यवाहियों की जाती है। एप्लीकेशन की सहायता से ग्राम पंचायतों को समूहबद्ध कर समूह के लिए रिर्टनिंग आफिसर का नाम व पदनाम नाम निर्देशन पत्र प्राप्ती का स्थान नाम निर्देशन पत्रों की संवीक्षा का स्थान अभ्यार्थिता वापस लेने का स्थान, मतों की गणना करने का स्थान की जानकारी की प्रविष्टि की जा सकती है जिलों द्वारा निर्वाचन की सूचना जारी करने में किसी भी प्रकार की तकनीकी समस्या आने पर आयोग की हेल्पडेक्स टीम से सम्पर्क करे। अतः उपर्युक्त निर्देशों से सभी रिटर्निंग ऑफिसर, सहायक रिटर्निंग ऑफिसर एवं समस्त संबंधितो को पालन सुनिश्चित कराने के निर्देश दिए गए हैं।

ऑनलाइन पोर्टल EPDS पर जानकारी दर्ज करने के निर्देश

पंचायत चुनाव 2020-21 के मतदान दल गठन के लिए ऑनलाइन पोर्टल EPDS पर जनवरी 2021 की स्थिति में जिला अधिकारी अपने-अपने अधिनस्थ अधिकारियों, कर्मचारियों की जानकारी अद्यतन कर दर्ज करने के निर्देश दिए गए हैं। निकट भविष्य में पंचायत चुनाव 2020-21 एवं नगरीय निकाय निर्वाचन 2020-21 को द्रष्टिगत रखते हुये पूर्व में अधिनस्थ कार्यालयों में पदस्थ समस्त अधिकारियों और कर्मचारियों की अद्यतन जानकारी दर्ज किया जाना है। इसे पूर्व सभी कार्यालय प्रमुखों को उपलब्ध कराये गये यूजर आईडी एवं पासवर्ड का उपयोग कर जानकारी अद्यतन की जानी है। यदि किसी विभाग को यूजर पासवर्ड संबंधी समस्या हो तो पत्र के साथ सलग्न सूची में दर्ज कार्यालय कोड और अपने कार्यालय का नाम लिख कर mpseh@nic.in पर ईमेल कर यूजर आईडी एवं पासवर्ड प्राप्त कर सकते हैं।

सॉफ्टवेयर खोलने के संबंध भी निर्देश जारी

इसके अलावा पंचायत चुनाव के आम निर्वाचन में मतदान केन्द्रों के भवन अथवा नाम परिवर्तन किए जाने के लिए ऑनलाईन कंट्रोल टेबल खोलने की अनुमति महाप्रबंधक MPSEDC भोपाल को प्रदाय कर निर्देशित किया गया है। जिसके तहत रजिस्ट्रीकरण अधिकारी एमपीएसईडीसी भोपाल से तत्काल संपर्क स्थापित कर उक्त कार्यवाही सम्पन्न किया जाना सुनिश्चित करेंगे।इससे संबधित अनुविभागीय अधिकारी एवं रजिस्ट्रीकरण अधिकारी तथा तहसीलदारों को निर्देश दिए है कि 8 नवम्बर को प्रातः 9 बजे संबंधित तहसीलदार मय सहायक प्रबंधक ई-गवर्नेंस एवं डाटा एन्ट्री ऑपरेटर सहित स्थानीय निर्वाचन कार्यालय शिवपुरी पर अनिवार्य रूप से उक्त कार्य त्रुटि सहित सम्पन्न कराना सुनिश्चित करें।

ऑनलाईन नामनिर्देशन (OLIN) अभ्यर्थियों के लिए अतिरिक्त सुविधा

त्रिस्तरीय पंचायतों के आम निर्वाचन में ऑनलाईन नामनिर्देशन (OLIN) अभ्यर्थियों के लिए अतिरिक्त सुविधा रहेगी।आयोग द्वारा OLIN सुविधा केन्द्र की स्थापना, प्रशिक्षण व्यवस्था, अभ्यर्थी द्वारा की जाने वाली कार्यवाहियां एवं रिटर्निंग ऑफिसर द्वारा की जाने वाली कार्यवाही के संबंध में आवश्यक निर्देशों का समय-सीमा में पालन करना सुनिश्चित करें।