MP School: 26 जुलाई तक आवंटित स्कूलों में प्रवेश ले सकेंगे छात्र, सीधे राशि ट्रांसफर करेगी सरकार

लोक शिक्षण आयुक्त जयश्री कियावत (Public Instruction Commissioner Jayshree Kiyawat) ने कहा कि RTE के तहत निजी विद्यालयों (Private School) में प्रवेश के लिए पारदर्शी और तकनीक आधारित व्यवस्था अपनाई गई है।

school

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) के स्कूल शिक्षा विभाग (MP School Education Department) ने आरटीई (Right to Child Education Act) के तहत निजी विद्यालयों  की प्रथम प्रवेशित कक्षा में छात्रों को निःशुल्क प्रवेश के लिये ऑनलाइन लॉटरी के माध्यम से सीटों के आवंटन की प्रक्रिया शुरु हो गई है। इसके तहत अभिभावकों को उनके क्षेत्र के स्कूल और उनमें उपलब्ध सीटों की जानकारी के साथ ही ऑनलाइन प्रक्रिया के माध्यम से उनके बच्चों को स्कूल में सीट आवंटित हो जाएगी।इसके लिए 26 जुलाई 2021 तक प्रवेश ले सकेंगे और स्कूलों के खाते में राशि ऑनलाइन ट्रांसफर की जाएगी।

यह भी पढ़े.. Suspended: आयुक्त का एक्शन- लापरवाही पर CMO निलंबित, शिक्षक पर भी गिरी गाज

लोक शिक्षण आयुक्त जयश्री कियावत (Public Instruction Commissioner Jayshree Kiyawat) ने कहा कि RTE के तहत निजी विद्यालयों (Private School) में प्रवेश के लिए पारदर्शी और तकनीक आधारित व्यवस्था अपनाई गई है। ऑनलाइन लॉटरी के लिए दस्तावेज सत्यापन के उपरांत 1 लाख 72 हज़ार 440 बच्चे पात्र हुए हैं, जिन्हें रैंडम पद्धति से स्कूल का आवंटन किया जा रहा है। जिन बच्चों को स्कूल का आवंटन हो रहा है, उन्हें SMS से भी सूचना दी जा रही है। बच्चे उनके आवंटित स्कूलों में 26 जुलाई तक प्रवेश ले सकेंगे। इन बच्चों की फीस मप्र सरकार (MP Government) द्वारा नियमानुसार स्कूल के खाते में सीधे ऑनलाइन ट्रांसफर की जाएगी।

खास बात ये है कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Chief Minister Shivraj Singh Chouhan) के निर्देशानुसार, इसमें कोविड-19 से प्रभावित बच्चों को प्राथमिकता दी गई है। राज्य शिक्षा केंद्र संचालक धनराजू एस ने बताया कि इस वर्ष 1 लाख 99 हजार बच्चों के आवेदन आरटीई के तहत ऑनलाइन (Online) आए हैं। इनमें 1 लाख 5 हज़ार बालक और 94 हज़ार बालिकाएँ हैं। नर्सरी की कक्षा के लिए 1 लाख 9 हजार 258, केजी-1 के लिए 55 हज़ार 996, केजी-2 के लिए 4080 और कक्षा पहली के लिए 29 हज़ार 407 आवेदन आए है।

यह भी पढ़े.. निकाय चुनाव: पार्षद करेंगे महापौर और अध्यक्ष का चुनाव, जयवर्धन बोले-फिर BJP ने विरोध क्यों किया था