MP : किसानों को लेकर शिवराज सरकार ने शुरु की यह सुविधा, ऐसे मिलेगा लाभ

यह एप राज्य शासन के एमपीआईटी विभाग (MPIT Department) द्वारा कृषि विभाग (Agriculture Department) के लिये बनाया गया है।

किसानों

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। एक तरफ नए साल (New Year 2021) में भी मोदी सरकार (Modi Goverment) के कृषि बिलों (Agriculture Bill) के विरोध में किसान आंदोलन (Farmers Prostest) जारी है वही दूसरी तरफ प्रदेश की शिवराज सरकार (Shivraj Goverment) एक के बाद एक किसानों के हित में फैसले ले रही है। अब मध्यप्रदेश (MP) शासन द्वारा किसानों की सुविधा के लिये एमपी किसान एप (MP KISAAN APP) प्रारंभ किया गया है। यह एप राज्य शासन के एमपीआईटी विभाग (MPIT Department) द्वारा कृषि विभाग (Agriculture Department) के लिये बनाया गया है।

यह भी पढ़े… MP School- नए साल में विशेष योजना शुरु करने की तैयारी में स्कूल शिक्षा विभाग

एमपी किसान एप में किसानों को अपनी फसल बेचने के लिये ई-उपार्जन संबंधी आवेदन करने की सुविधा दी गई है। साथ ही फसल गिरदावरी की सुविधा भी है। फसल गिरदावरी किसानों द्वारा उगाई गई फसलों को भू-अभिलेख में दर्ज करने की प्रक्रिया है, जो वर्ष में न्यूनतम दो बार खरीफ एवं रबी में की जाती है। बोई हुई फसल भू-अभिलेख में स्व-घोषणा के माध्यम में दर्ज की जा सकती है। कृषकों के लिए आदान उपलब्धता एवं नजदीकी वितरकों की जानकारी भी इस एप में है। साथ ही एप के माध्यम से सीमांकन एवं स्थल का नक्शा जीपीएस (GPS) के माध्यम से भी स्थल को रेखांकित कर सकते हैं।

यह भी पढ़े… MP News- रोजगार को लेकर वन मंत्री विजय शाह का बड़ा ऐलान

यह ऐप पटवारी, राजस्व निरीक्षक, एवं राजस्व अधिकारियों के लिए बहुत ही उपयोगी है. फसल स्व-घोषणा, गिरदावरी, ई उपार्जन, एमपी किसान, खसरा बी-वन की प्रतिलिपि, सोलर पंप, बाजार भाव, मौसम संबंधी जानकारी, कृषि योजनाएं, बीज कृषि उर्वरक एवं कीटनाशक आदि को समाविष्ट किया गया है ।यह एप राजस्व अधिकारियों के लिये भी उपयोगी है। इसमें विभाग के अधिकारियों के अलावा किसानों, विक्रेताओं, सोसायटी आदि को लॉग-इन करने की सुविधा दी गई है।एमपी किसान एप में किसानों को अपनी फसल बेचने के लिये ई-उपार्जन संबंधी आवेदन करने की सुविधा दी गई है। साथ ही फसल गिरदावरी की सुविधा भी है।