PEB : नाम बदलने के बाद भी नहीं बदला काम, अब गड़बड़ी के बाद तीन परीक्षाएं निरस्त

PEB

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्य प्रदेश प्रोफेशनल एग्जामिनेशन बोर्ड (Professional Examination Board) द्वारा तीन परीक्षाओं को निरस्त करने का निर्णय लिया है। गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा (Narottam Mishra) ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में ये जानकारी दी। इसके तहत MPPEB द्वारा आयोजित की गई वरिष्ठ कृषि विस्तार अधिकारी  ग्रामीण कृषि विस्तार अधिकारी नर्सिंग परीक्षा निरस्त की गई है। इनके पेपर लीक होने के चलते सरकार ने ये बड़ा फैसला लिया है। इस मामले में जांच के बाद ये फैसला लिया गया है।

उच्च शिक्षा मंत्री ने जताया भरोसा, अब प्रदेश का विद्यार्थी दुनिया में किसी से पीछे नहीं रहेगा

बता दें कि किसान कल्याण एवं कृषि विकास विभाग के लिए 10 तथा 11 फरवरी, 2021 को वरिष्ठ कृषि विस्तार अधिकारी एवं ग्रामीण कृषि विस्तार अधिकारी पदों पर भर्ती के लिए व्यावसायिक परीक्षा मण्डल ने प्रतियोगी परीक्षा का आयोजन किया गया था। अभ्यार्थियों को परीक्षा में पूछे गए प्रश्नों के संबंध में अपनी आपति दर्ज करने के लिए निर्धारित प्रक्रिया के तहत समय दिया गया। इसके बाद ट्विटर, समाचार पत्रों आदि से यह शिकायतें प्राप्त होना शुरू हुई कि कुछ केन्द्रों पर परिक्षार्थियों के अंक अत्यधिक है, जो कि उनकी अन्य शैक्षणिक उपलब्धियों के अनुरूप नहीं है। शिकायत की जांच पहले व्यावसायिक परीक्षा मंडल की आंतरिक समिति द्वारा की गई। इसके अंतर्गत केन्द्रों के संबंध में शिकायत थी उनके सीसीटीवी फुटेज देखे गये तथा व्यावसायिक परीक्षा मंडल के द्वारा परीक्षा आयोजित करने के लिए जो आंतरिक प्रक्रिया निर्धारित है उसका परीक्षण भी किया गया। परीक्षा संचालन सम्पूर्ण प्रशासनिक प्रक्रिया में कोई त्रुटि नहीं पाई गई।

इसके बाद विस्तृत तकनीकी जांच के लिए मध्य राज्य इलेक्ट्रानिक विकास निगम (SEDC) का सहयोग लिया गया। SEDC के तकनीकी विशेषज्ञों ने परी संबंधित विभिन्न गतिविधियों के इलेक्ट्रानिक रिकार्ड (digital footprints) की जांच की डिजिटल ऑन परीक्षा में जो भी गतिविधि होती है उदाहरणतः प्रश्न पत्र प्राप्त करना, उसे अभ्यार्थी तक भेजा जाना, द्वारा प्रश्न पत्रों को हल करना, आदि का इलेक्ट्रानिक रजिस्टर स्वतः संधारित होता है, इसे लॉग कहा जाता है। किसी भी ऑनलाइन परीक्षा में इस तरह के लॉग की संख्या लाखों लाइनों में होती है। SEDC की टीम ने बहुत बड़ी संख्या की इन लॉग्स का परीक्षण किया।

मध्य प्रदेश राज्य इलेक्ट्रानिक विकास निगम लिमिटेड ने विस्तृत जांच के बाद एक लॉग पाया जिससे यह प्रतीत होता है कि परीक्षा के प्रश्न पत्र को अनधिक डाउनलोड किया गया। यह डाउनलोड व्यावसायिक परीक्षा मंडल के कम्प्यूटर पर नहीं हुआ बल्कि हर से किसी कम्प्यूटर पर हुआ था। यह एक अनाधिकृत गतिविधि है जो परीक्षा संचालन प्रणाली के अनुसार नहीं है। इस गतिविधि से परीक्षा के पेपर लीक होने की संभावना हुई। अब ये  पुलिस के सायबर विंग को सौंपा जायेगा। मध्यप्रदेश राज्य इलेक्ट्रानिक विकास निगम लिमिटेड की जांच के आधार पर 10 तथा 11 फरवरी को किसान कल्याण एवं कृषि विभाग के लिए आयोजित परीक्षा को निरस्त किये जाने का निर्णय लिया गया है। इसी तरह  प्री-नर्सिंग प्रवेश परीक्षा के संचालन में भी अनधिकृत रूप से प्रश्न पत्रों के डाउनलोड करना पाया गया जिसके बाद इनके परिणाम तथा इन्हें निरस्त करने का निर्णय लिया गया है।