Dr.Narottam Mishra
Dr.Narottam Mishra

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। सोमवार को कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ के देवास जिले के नेमावर दौरे पर गृह मंत्री डॉ नरोत्तम मिश्रा ने तंज कसा है। उन्होंने कमलनाथ से कहा है कि यदि कांग्रेसियों को संस्कार दिए गए होते तो नेमावर जैसा जघन्य अपराध घटित ही नहीं होता।

इंदौर पहुंचे सांसद सिंधिया, दिया ये बड़ा बयान

सोमवार को कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ के द्वारा नेमावर हत्याकांड में मारे गए लोगों के परिजनों से मिलने पर सियासत गरमा गई है। पीड़ित परिजनों से मिलने के बाद कमलनाथ ने इस हत्याकांड के पीछे पुलिस प्रशासन और भाजपा नेताओं का गठजोड़ बताया था और कहा था कि दबाव के चलते पुलिस ने कार्रवाई करने में काफी देर लगाई। उन्होंने इस मामले की सीबीआई जांच की भी मांग की थी। इसके साथ ही उन्होंने यह आरोप भी लगाया था कि आरोपियों की पृष्ठभूमि बीजेपी की है और वे बीजेपी के बड़े नेताओं के संपर्क में भी हैं। कमलनाथ के बयान पर प्रदेश के गृह मंत्री डॉ नरोत्तम मिश्रा ने पलटवार करते हुए आरोपियों को कांग्रेस पृष्ठभूमि का बताया है। उनका कहना है कि तीन पीढ़ी से आरोपी और उनके परिजन कांग्रेस के सक्रिय सदस्य रहे हैं। उन्होंने कमलनाथ पर तंज कसते हुए कहा कि प्रदेश अध्यक्ष और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता होने के नाते यदि उन्होंने कांग्रेसियों को संस्कार दिए होते तो शायद नेमावर जैसा हत्याकांड नहीं होता। उन्होंने कमलनाथ पर इस पूरे मामले में कांग्रेसियों को बचाने के लिए राजनीति करने का आरोप भी लगाया।

नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि जब यह साफ हो चुका है कि पुलिस ने त्वरित कार्रवाई करते हुए सभी आरोपियों को तत्काल गिरफ्तार कर लिया और मुख्यमंत्री भी साफ कह चुके हैं कि इन सभी अपराधियों को कड़ी से कड़ी सजा दिलाने के लिए फास्ट ट्रैक में त्वरित सुनवाई कर न्याय दिलाया जाएगा तो फिर अब कमलनाथ किस बात का राग अलाप रहे हैं। कोरोना काल में आराम करने के बाद अब कमलनाथ अचानक प्रकट हुए हैं और मौत पर राजनीति कर रहे हैं।