नरोत्तम का तंज- “कमलनाथ बताएं कि वे पेगासस के सेल्स पर्सन हैं या उपयोगकर्ता”

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्य प्रदेश के गृह एवं जेल मंत्री डॉ नरोत्तम मिश्रा ने कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ की प्रेस कॉन्फ्रेंस को लेकर तंज कसा है। उन्होंने ट्वीट कर लिखा है कि कमलनाथ ने जिस तरह से पेगासस की खूबियों के बारे में बताया है, वैसा या तो एक सेल्स पर्सन ही बता सकता है या फिर उपयोगकर्ता।

MP Weather Alert: मप्र के इन 11 जिलों में भारी बारिश का अलर्ट, बिजली गिरने के भी आसार

देशभर में इजरायल के सॉफ्टवेयर पेगासस से जासूसी को लेकर मचे बवाल के बीच कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ ने मोदी सरकार पर हमला बोला। भोपाल में प्रदेश कांग्रेस कार्यालय में पत्रकारों से बातचीत करते हुए उन्होंने कहा कि इस सरकार ने देश के लिए जासूसी कराई या मोदी हित के लिए, यह साफ करना चाहिए। उन्होंने पेगासस के बारे में बताते हुए कहा कि इजराइल के इस सॉफ्टवेयर से एक बार में एक ही व्यक्ति की जासूसी की जा सकती है और कंपनी यह सॉफ्टवेयर सिर्फ सरकारों को बेचती है। इसके एक लाइसेंस के लिए 10 से 50 मिलियन तक की राशि खर्च होती है। कमलनाथ ने यह भी कहा कि एक सॉफ्टवेयर का एक लाइसेंस होता है और एक लाइसेंस से एक बार में एक ही फोन टेप हो सकता है। सरकार को अगर यह लाइसेंस लेना है तो इसके लिए बाकायदा एक टेक्निकल टीम केंद्रीय सरकार की होती है जो उसकी पूरी अनुशंसा करती है और उसके बाद ही खरीदी की अनुमति मिलती है।

कमलनाथ की इस प्रेस कॉन्फ्रेंस पर तंज कसते हुए गृह मंत्री डॉ.नरोत्तम मिश्रा ने ट्वीट के माध्यम से निशाना साधा है। उन्होंने लिखा है कि “कमलनाथ ने अपनी प्रेस कॉन्फ्रेंस में पेगासस सॉफ्टवेयर की खूबियों के बारे में जिस ढंग से वर्णन किया है वैसा सिर्फ दो ही लोग बता सकते हैं। एक तो कंपनी का सेल्स पर्सन और दूसरा वह जिसने खुद इसका उपयोग किया हो या कराया हो।” नरोत्तम ने आगे लिखा है कि “कमलनाथ कह रहे हैं पेगासस सिर्फ सरकारों को ही बेचा जाता है। उसकी मंजूरी एक टेक्निकल कमेटी देती है। इसकी सारी औपचारिकताएं पूरी करके ही हासिल किया जा सकता है।” नरोत्तम ने आगे लिखा है कि “इस दावे के बाद कमलनाथ को यह भी बता देना चाहिए कि कांग्रेस सत्ता में रहते हुए जासूसी के लिए इस तरह के सॉफ्टवेयर का इस्तेमाल कर या करा चुकी है। अन्यथा इस मुद्दे पर अनावश्यक भ्रम फैलाना छोड़ें।”