MP College Exam 2021: मई-जून में होगी कॉलेज की परीक्षाएं, ऑफलाइन देना होगा पेपर

उच्च शिक्षा विभाग

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्य प्रदेश में कोरोना के बढ़ते प्रभाव के चलते मध्य प्रदेश (MP) के उच्च शिक्षा विभाग (Higher Education Department) ने कॉलेज छात्रों (College Student) को लेकर बड़ा फैसला लिया है।अप्रैल में आयोजित होने वाली सभी प्रकार की परीक्षाएं (Exam 2021) अब मई में प्रारंभ होगी। इसके साथ ही गृह विभाग(Home department) , स्वास्थ्य विभाग मध्यप्रदेश शासन (MP government) द्वारा कोविड-19 के संबंध में जारी निर्देशों का पालन करते हुए सभी महाविद्यालयों (College) को निर्देश जारी कर दिए गए हैं।

यह भी पढ़े.. MP College: उच्च शिक्षा विभाग का छात्रों को बड़ा तोहफा, नए सत्र से मिलेगा लाभ

उच्च शिक्षा मंत्री डॉ. मोहन यादव (Higher Education Minister Dr. Mohan Yadav) ने बताया कि विद्यार्थियों के स्वास्थ्य को ध्यान में रखते हुए यह निर्णय लिया गया कि स्नातक अंतिम वर्ष एवं स्नातकोत्तर चतुर्थ सेमेस्टर की परीक्षाएं (College Exam) परीक्षार्थियों की भौतिक रूप से परीक्षा केन्द्रों में उपस्थिति (Offline Exam) के साथ मई 2021 में संचालित होगी।

उच्च शिक्षा मंत्री मोहन यादव ने बताया कि  स्नातक प्रथम एवं​ द्वितीय वर्ष तथा स्नातकोत्तर द्वितीय सेमेस्टर की परीक्षाएं ओपन बुक पद्धति (Open book system) से जून 2021 में आयोजित की जाएगी। जिसमें परीक्षार्थी अपने निवास में ही रहकर परीक्षा (Online Exam 2021) देंगे तथा निकट के निर्धारित संग्रहण केंद्र में उत्तर पुस्तिका जमा करेंगे।

उच्च शिक्षा मंत्री डॉ. यादव ने कहा कि कोरोना के इस कठिन काल में मध्यप्रदेश पहला राज्य होगी जिसने परीक्षाओं का यह कार्यक्रम घोषित किया है। उन्होंने कहा कि स्नातक एवं स्नातकोत्तर के लगभग 18 लाख विद्यार्थी इन परीक्षाओं में सम्मिलित होंगे। ऑफलाइन परीक्षाएं कोरोना की गाइडलाइन को ध्यान में रखते हुए सम्पन्न कराई जायेंगी।

बता दे कि स्नातक अंतिम वर्ष के 4.30 लाख एवं स्नातकोत्तर चतुर्थ सेमेस्टर के 1.72 लाख परीक्षार्थी प्रदेश के 8 विश्वविद्यालयों द्वारा आयोजित परीक्षाओं में शामिल होंगे। स्नातक प्रथम वर्ष में 5.33 लाख एवं स्नातक द्वितीय वर्ष में 5.25 लाख, स्नातकोत्तर द्वितीय सेमेस्टर के 1.35 लाख परीक्षार्थी प्रदेश के 8 विश्वविद्यालयों द्वारा आयोजित परीक्षाओं में शामिल होंगे।

वर्तमान में 8 शासकीय विश्वविद्यालयों में 665 परीक्षा केन्द्र के साथ आवश्यकतानुसार अतिरिक्त सहपरीक्षा केन्द्र बनाए जाने के लिये विश्वविद्यालयों को निर्देशित किया गया है। परीक्षा केन्द्रों में विद्यार्थी 50 प्रतिशत क्षमता के साथ बैठेंगे। गृह विभाग स्वास्थ्य विभाग मध्यप्रदेश शासन द्वारा कोविड-19 के संबंध में जारी निर्देशों का पालन करते हुए समस्त विश्वविद्यालयों एवं महाविद्यालयों को निर्देश जारी किये गये हैं।

यह भी पढ़े.. अनूपपुर कलेक्टर की चेतावनी- ऐसा नहीं किया तो रुकेगा तहसीलदारों का वेतन