मप्र विधानसभा: फिर शुरु होंगे उत्कृष्ट संसदीय पुरस्कार, जानें किसको क्या मिली जिम्मेदारी

समिति में विधायक हिना कांवरे, डा. गोविंद सिंह, देवेन्द्र वर्मा, राजेन्द्र पांडे, वरिष्ठ पत्रकार राजेन्द्र शर्मा और शरद द्विवेदी को सदस्य बनाया गया है।

मप्र विधानसभा

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्य प्रदेश के विधायकों, कर्मचारियों और अधिकारियों के लिए बड़ी खुशखबरी है। प्रदेश में एक बार फिर लंबे समय बाद संसदीय उत्कृष्टता पुरस्कार (MLA Excellence Award) शुरु होने वाले है। इसको लेकर विधानसभा अध्यक्ष गिरीश गौतम ने चयन समिति घोषित कर दी है और इसका अध्यक्ष पूर्व विधानसभा अध्यक्ष डॉ. सीतासरन शर्मा (Dr. Sitasaran Sharma) को बनाया गया है। यह पुरस्कार विधानसभा के शीतकालीन सत्र में वर्ष 2020-21 के लिए यह पुरस्कार दिए जाएंगे।

यह भी पढ़े.. GOOD NEWS: कर्मचारियों को बड़ा तोहफा, DA में वृद्धि, अगस्त से बढ़कर आएगी सैलरी

मप्र विधानसभा अध्यक्ष (MP Assembly Speaker Girish Gautam) द्वारा संसदीय उत्कृष्टता पुरस्कार चयन समिति का गठन किया गया है। इसके तहत होशंगाबाद विधायक और पूर्व विधानसभा अध्यक्ष डॉ. सीतासरन शर्मा को सभापति, समिति में मप्र विस प्रमुख सचिव एपी सिंह को पदेन सदस्य सचिव और विधानसभा सदस्य व प्रिंट मीडिया (Print Media) , इलेक्ट्रॉनिक मीडिया (Electronic Media) से एक-एक सदस्य बनाया गया है।समिति में विधायक हिना कांवरे, डा. गोविंद सिंह, देवेन्द्र वर्मा, राजेन्द्र पांडे, वरिष्ठ पत्रकार राजेन्द्र शर्मा और शरद द्विवेदी को सदस्य बनाया गया है।

यह भी पढ़े.. MP में लोकायु्क्त की बड़ी कार्रवाई-तहसीलदार का रीडर 50 हजार की रिश्वत लेते धराया

इसके अलावा संसदीय उत्कष्टता पुरस्कारों में अलग-अलग केटैगिरी में 5 पुरस्कार दिए जाएंगे। इसके तहत श्रेष्ठ विधायक पुरस्कार पूर्व मुख्यमंत्री सुंदरलाल पटवा, उत्कृष्ट मंत्री पुरस्कार पंडित रविशंकर शुक्ल, विधानसभा रिपोर्टिंग के लिए प्रिंट मीडिया पुरस्कार जमुनादेवी, इलेक्ट्रानिक मीडिया को माणिकचंद बाजपेयी की स्मृति में पुरस्कार दिया जाएगा।वही पं. कुंजीलाल दुबे की स्मृति में श्रेष्ठ अधिकारी और पूर्व विधानसभा प्रमुख सचिव रंगोले की स्मृति में श्रेष्ठ कर्मचारी पुरस्कार दिया जाएगा।