MP में लोकायु्क्त की बड़ी कार्रवाई-तहसीलदार का रीडर 50 हजार की रिश्वत लेते धराया

टीम ने जांच के सही पाए जाने के बाद योजना बनाकर गुरुवार को किसान को ओरछा तहसील (Orchha Tehsil) रीडर के पास रिश्वत के 50 हजार  रुपए लेकर भेजा

MP

निवाड़ी, डेस्क रिपोर्ट। मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) के निवाड़ी जिले (Niwari District) में लोकायुक्त पुलिस ने बड़ी कार्रवाई की है।यहां टीम ने एक तहसीलदार के रीडर को 50 हजार की रिश्वत लेते हुए रंगेहाथों गिरफ्तार किया है। आरोप है कि रीडर ने नामातंरण पर लगे स्टे को दर्ज कराने के एवज में किसान (Farmers) से यह रिश्वत मांगी थी। बबेले के खिलाफ भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम के तहत मामला दर्ज कर लिया गया है और विस्तृत जांच जारी है।

यह भी पढ़े.. Job Alert 2021: 10वीं पास के लिए इन पदों पर बंपर भर्ती, 70 हजार तक सैलरी, जल्द करें एप्लाई

जानकारी के अनुसार, MP के  निवाड़ी जिले की ओरछा तहसील के रामनगर गांव के एक किसान महेश यादव को उनकी जमीन के नामांतरण पर आयुक्त अदालत के स्थगन आदेश को रिकार्ड में दर्ज करवाना था। इसके लिए तहसीलदार के रीडर प्रदीप बबेले 50,000 रूपये की रिश्वत (Bribe) की मांग की थी। इसकी शिकायत किसान ने सागर लोकायुक्त टीम (Sagar Lokayukt Team) से 8 अगस्त को की थी।

टीम ने जांच के सही पाए जाने के बाद योजना बनाकर गुरुवार को किसान को ओरछा तहसील (Orchha Tehsil) रीडर के पास रिश्वत के 50 हजार  रुपए लेकर भेजा। जैसे ही रीडर ने 50 हजार रुपए लेने के लिए हाथ बढ़ाया, लोकायुक्त की टीम ने पीछे से धर दबोचा।अचानक लोकायुक्त की टीम को देख रीडर के होश उड़ गए औऱ तहसील में हड़कंप मच गया।टीम ने आरोपित के हाथ धुलाए और मामला दर्ज कर आगे की कार्रवाई शुरू कर दी।

यह भी पढ़े.. शासकीय अधिकारियों को लगा बड़ा झटका, Supreme Court ने सुनाया ये महत्वपूर्ण फैसला