भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्य प्रदेश सरकार के मंत्री ओमप्रकाश सकलेचा का महंगाई को लेकर अजीबोगरीब बयान सामने आया है। महंगाई से परेशान हो रही जनता को लेकर पूछे गए सवाल पर उन्होंने कहा जिंदगी में परेशानी ही सुख का आनंद देती है।

कोरोना से मौत के आंकड़ों पर एक बार फिर कमलनाथ ने सरकार को घेरा, उज्जैन का दिया हवाला

पेट्रोल और डीजल की कीमतों में आग लगी है और पेट्रोल के बाद अब डीजल भी शतक बना चुका है यानी दोनों के दाम 100 रूपये प्रति लीटर के पार है। पेट्रोलियम पदार्थों की बढ़ी हुई कीमतों का असर हर जगह देखने को मिल रहा है और कोरोना काल में दम तोड़ रही अर्थव्यवस्था के चलते लोगों के सामने जीवन यापन बड़ी समस्या बन गई है। ऐसे में बजाय लोगों के जख्मों पर मरहम लगाने के यदि कोई जिम्मेदार प्रतिनिधि उलजुलूल बयान दे दे तो जनता क्या करें?

मध्य प्रदेश सरकार के लघु एवं सूक्ष्म उद्योग मंत्री ओमप्रकाश सकलेचा ने ऐसा ही बयान दिया है। शनिवार को एक कार्यक्रम में उनसे पूछा गया कि बढ़ती महंगाई के चलते लोग परेशान हो रहे हैं तो मंत्री जी का जवाब था “जिंदगी में परेशानी ही सुख का आनंद देती है। जब तक जिंदगी में एक भी परेशानी ना आए तो सुख का आनंद नहीं आता।” पत्रकारों के द्वारा यह पूछे जाने पर कि क्या मोदी जी की नीतियों फेल हो रही है तो उनका कहना था कि यह आप जैसे लोग अफवाह फैला रहे हैं।

प्रदेश सरकार के एक और मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर पहले ही कह चुके हैं कि लोग यदि स्वस्थ रहना चाहते हैं तो पेट्रोल-डीजल की कीमतों की चिंता छोड़ साईकिल चलाएं और मंत्री कमल पटेल ने डीजल पेट्रोल के दामों को लेकर साफ कह दिया था कि इनका उत्पादन भारत में नहीं होता और इसलिए कीमतों पर नियंत्रण में भारत के बस में नहीं। यानी साफ तौर पर बजाय समस्या का समाधान देने के जनप्रतिनिधि अपने अपने ढंग से तर्क दे रहे हैं। अब जनता का क्या। उसके पास तो 5 साल में एक बार अवसर आता है कि वह अपने ऐसे जनप्रतिनिधि को चुने जो कम से कम उसकी समस्याओं का हल तो निकाल सके। फिलहाल तो उसके पास सहन करने के अलावा कुछ नहीं।