MP में आज से समर्थन मूल्य पर धान की खरीदी, ऐसे होगा किसानों को राशि का भुगतान

उपार्जन पंजीकृत किसानों से आगामी 29 नवम्बर से 15 जनवरी 2022 तक किया जाएगा। इसके लिए एफएक्यू धान 1940 रुपए तथा ग्रेड ए धान 1960 रुपए प्रति क्विंटल समर्थन मूल्य निर्धारित किया गया है।

धान की खरीदी

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्य प्रदेश के किसानों (MP Farmers) का इंतजार खत्म हो गया है। आज 29 नवंबर 2021 से समर्थन मूल्य पर  धान की खरीदी (Paddy Procurement)  शुरु होने जा रही है। खरीफ फसलो के लिए धान तथा अन्य अनाजों का उपार्जन पंजीकृत किसानों से आगामी 29 नवम्बर से 15 जनवरी 2022 तक किया जाएगा। इसके लिए एफएक्यू धान 1940 रुपए तथा ग्रेड ए धान 1960 रुपए प्रति क्विंटल MSP निर्धारित किया गया है।अब तक 9 लाख से ज्यादा किसान प्रदेश में धान बेचने के लिए रजिस्ट्रेशन करा चुके हैं। इस साल 35 लाख हेक्टेयर में धान की बोवनी की गई है। अनुमान लगाया जा रहा है कि इस बार 125 लाख टन से ज्यादा धान का उत्पादन किया गया है।

यह भी पढ़े.. MP School: तय समय पर ही होंगी अर्द्धवार्षिक परीक्षाएं, स्कूल शिक्षा विभाग का आदेश जारी

मप्र शासन द्वारा घोषित समर्थन मूल्य पर पंजीकृत किसान द्वारा क्रांति धान बेचने पर बोई गई क्रांति धान का तहसीलदार द्वारा सत्यापित प्रमाण-पत्र धान उर्पाजन केन्द्र पर किसान को प्रस्तुत करना होगा। जबकि क्रांति धान को छोड़कर अन्य किस्म की धान उर्पाजन केन्द्र पर लाने के लिए अनुमति की आवश्यकता नहीं होगी।वही खरीफ उपार्जन के लिए पंजीकृत किसानों के आधार लिंक खातों (bank account link with aadhar card) में भुगतान संबंधी निर्देश जारी किए गए है।इसके तहत किसानों को उनके द्वारा पंजीयन में दिए गए बैंक खाते में उपार्जित धान की राशि का भुगतान किया जाएगा।

खाद्य नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता संरक्षण विभाग के प्रमुख सचिव फैज अहमद किदवई के अनुसार, विभाग द्वारा दो स्तर पर कार्यवाही की जा रही है, प्रथम स्तर पर हितग्राही द्वारा दिए गए मोबाइल नंबर एवं आधार नंबर का मिलान कराया जा रहा है जिससे आधार नंबर का सत्यापन OTP के माध्यम से किया जा सके और दूसरे स्तर पर उक्त आधार नंबर में दर्ज खाते का सत्यापन भी कराया जाएगा। खरीफ उपार्जन वर्ष 2021-22 के लिए समर्थन मूल्य (MSP) का भुगतान किसान के आधार नंबर से लिंक बैंक खाते में ही किया जाएगा किसान पंजीयन क्रमांक में, मोबाइल नंबर एवं आधार नंबर में दर्ज मोबाइल नंबर भिन्न भिन्न होने के कारण आधार नंबर का सत्यापन नहीं हो सका है, इस के लिए आधार पंजीयन केंद्र में जाकर हितग्राही अपने आधार नंबर में पंजीयन में उल्लेखित मोबाइल नंबर दर्ज कराना सुनिश्चित करें।

कहां कितने केंद्र

  • दतिया कलेक्टर संजय कुमार ने बताया कि जिले में धान उर्पाजन हेतु 39 केन्द्र बनाए गए हैं। शासन द्वारा खरीफ विपणन मौसम 2021-22 के लिए औसत अच्छी गुणवत्ता के धान कॉमन का समर्थन मूल्य 1940 रूपये और धान ग्रेड-ए का समर्थन मूल्य 1960 प्रति क्विंटल की दर से निर्धारित किया है। धान उर्पाजन का कार्य 29 नवम्बर से लेकर 15 जनवरी 2022 तक संचालित रहेगा।
  • खाद्य नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता संरक्षण विभाग के निर्देशानुसार वर्ष 2021-22 में समर्थन मूल्य पर धान उर्पाजन के लिये सतना कलेक्टर अजय कटेसरिया द्वारा उपायुक्त सहकारिता सतना द्वारा दी गई अनापत्ति प्रदाय अनुसार 103 उपार्जन केन्द्र निर्धारित किये गये है। निर्धारित किये गये उपार्जन केन्द्रों में शासन द्वारा जारी नीति निर्देश 2021-22 का पालन करते हुए पंजीकृत कृषकों से धान उपार्जन का कार्य किया जायेगा।
  •  रीवा जिले में आज 29 नवम्बर से 15 जनवरी 2022 तक 113 खरीदी केन्द्रों में धान का उपार्जन किया जाएगा। इसके लिए एफएक्यू धान 1940 रुपए तथा ग्रेड ए धान 1960 रुपए प्रति क्विंटल समर्थन मूल्य निर्धारित किया गया है। किसानों को उनके द्वारा पंजीयन में दिए गए बैंक खाते में उपार्जित धान की राशि का भुगतान किया जाएगा। इस बैंक खाते में आधार सीडिंग कराना अनिवार्य है। धान खरीदी के लिए प्रत्येक पंजीकृत किसान को SMS से सूचना दी जाएगी। जिले में धान की खरीद सहकारी समितियों के माध्यम से की जा रही है।
  • बैतूल में आज से 18 केंद्रों पर धान खरीदी की जाएगी। इस बार 8300 किसानों के अपना रजिस्ट्रेशन करवाया है। इस बार किसानों को उनकी उपज का मूल्य एक सप्ताह के भीतर दिए जाने की व्यवस्था की जा रही है। सभी केंद्रों पर बारदानों की उपलब्धता भी सुनिश्चित की जा रही है। जिले के शाहपुर इलाके में सबसे अधिक धान उपज बेची जाती है।