संबल योजना: हितग्राहियों के खातों में 379 करोड़ ट्रांसफर, सीएम की अपील-कर्फ्यू का पालन करें

संबल योजना प्रदेश के श्रमिक परिवारों को आर्थिक सहायता उपलब्ध कराने के साथ परिवारों को आधार प्रदान करने वाली योजना है।

शिवराज सिंह चौहान

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Chief Minister Shivraj Singh Chauhan) ने आज 4 मई मंगलवार को वर्चुअल कार्यक्रम के माध्यम से जन-कल्याण संबल योजना में 16 हजार 844 असंगठित श्रमिक परिवारों के बैंक खाते में 379 करोड़ रूपये सिंगल क्लिक के माध्यम से अंतरित किए। इस मौके पर शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि संबल योजना में गरीब परिवारों के बच्चों की शिक्षा की नि:शुल्क व्यवस्था है। इसमें दुघर्टना में मृत्यु पर 4 लाख और सामान्य मृत्यु पर 2 लाख की सहायता दी जाती है।हर संकट में आपके साथ प्रदेश सरकार खड़ी है। ऐसे समय में रोजी रोटी की दिक्कत होती है। इसलिये हमने तय किया है कि गरीबों को दो महीने का निशुल्क अनाज देंगे। पथविक्रेताओं के खातों में भी एक-एक हजार रुपये डाले हैं ताकि उनका काम चल जाये।

यह भी पढ़े… नरोत्तम मिश्रा बोले- अब TI को मिल सकेगा DSP का पदभार, राजपत्र में अधिसूचना प्रकाशित

वही सीएम शिवराज सिंह चौहान ने अपील करते हुए कहा कि मेरे भाइयों-बहनों, #COVID19 के विरुद्ध लड़ाई में आप अपना सहयोग दीजिये।मुझे विश्वास है कि जल्द ही फिर से जीवन सामान्य होगा, हम सब कोरोना से जीतेंगे।कोरोना हारेगा इंसानियत जीतेगी। बस लापरवाही नहीं बरतनी। मुझे पूरा विश्वास है कि आपके सहयोग से हम इस लड़ाई से जीतेंगे।संक्रमण की चेन तोड़ने के लिये हमने तय किया जनता ही कोरोना कर्फ्यू लगायेगी। ये हमारे लिये है, हमारी जिंदगी बचाने के लिये है। इस महामारी को अगर रोकना है तो कोरोना कर्फ्यू का अक्षरश: पालन करें।

सीएम शिवराज सिंह ने कहा कि संकट की हर घड़ी में सरकार आपके साथ खड़ी है। आप हमारा साथ दीजिये और हम आपके साथ हैं।गांव-गांव में किल कोरोना अभियान चल रहा है। कैसे जनता सुरक्षित रहे, जान बचे इसके लिये लगातार काम कर रहे हैं। अब संक्रमितों की संख्या धीरे धीरे घटने लगी है और स्वस्थ होकर घर जाने वालों की संख्या बढ़ने लगी है।ये महामारी ऐसी नहीं कि सरकार इससे अकेले लड़ ले। इसे जनता और सहयोग से ही लड़ा जा सकता है और हम लड़ रहे हैं। इससे बचने का एकमात्र उपाय है संक्रमण की चेन तोड़ देना। अगर हम मिले जुले तो संक्रमण की चेन लगातार बढ़ती चली जाती है।

सर्वाधिक 3398 हितग्राही जबलपुर संभाग से

सीएम शिवराज सिंह ने सिंगल क्लिक के द्वारा भोपाल संभाग में 1645 हितग्राहियों के खातों में 3 हजार 782 लाख रूपये, चंबल संभाग में 658 हितग्राहियों को 1422 लाख रूपये, ग्वालियर संभाग में 1058 हितग्राहियों को 2404 लाख एवं इंदौर संभाग में 2 हजार 587 हितग्राहियों को 5716 लाख रूपये उनके खातों में हस्तांरित किये। जबलपुर संभाग में सर्वाधिक 3 हजार 398 हितग्राहियों को 7526 लाख रूपये,होशंगाबाद में 893 हितग्राहियों को 2062 लाख रूपये, रीवा में 1316 हितग्राहियों को 3020 लाख रूपये, सागर में 2326 हितग्राहियों को 5240 लाख रूपये ,शहडोल में 672 हितग्राहियों को 1490 लाख रूपये और उज्जैन में 2291 हितग्राहियों को 5172 लाख रूपये उनके खातों में आज हस्तांरित किये गये।

क्या है संबल योजना

दरअसल, संबल योजना प्रदेश के श्रमिक परिवारों को आर्थिक सहायता उपलब्ध कराने के साथ परिवारों को आधार प्रदान करने वाली योजना है। इस योजना के अन्तर्गत श्रम विभाग (Labour Department) द्वारा श्रमिकों की दुर्घटना मृत्यु पर 4 लाख रूपये की राशि उनके आश्रितों को प्रदान की जाती है। इसी तरह सामान्य मृत्यु तथा स्थायी अपंगता पर श्रमिक परिवारों को 2-2 लाख रूपये की अनुग्रह राशि मुख्यमंत्री जन-कल्याण संबल योजना में दी जाती है। योजना में आंशिक स्थायी अपंगता पर एक लाख रूपये उपलब्ध कराने और अन्त्येष्ठि सहायता के रूप में 5 हजार रूपये दिये जाने का प्रावधान भी हैं।

अब तक 2 लाख से ज्यादा को मिल चुका है लाभ

बता दे कि मुख्यमंत्री जन-कल्याण संबल योजना (Mukhyamantri Jan Kalyan Sambal Yojana) असंगठित क्षेत्र के गरीब श्रमिक परिवारों के लिए संबल प्रदान करने का कार्य कर रही है। योजना प्रारंभ होने से अब तक प्रदेश के 2 लाख 28 हजार हितग्राहियों को 1907 करोड़ रूपये से अधिक की राशि वितरित की जा चुकी है। पिछले वित्तीय वर्ष में कोरोना महामारी जैसी विषम परिस्थितियों में भी 72 हजार से अधिक हितग्राहियों के बैंक खाते में 582 करोड़ रूपये हितलाभ वितरित किये गये थे।

यह भी पढ़े… सीएम शिवराज सिंह बोले- कोरोना कर्फ्यू को और प्रभावी बनाएं, अधिकारी जिलों में जाकर देखें व्यवस्था

गौरतलब है कि मुख्यमंत्री जन-कल्याण संबल योजना 2018 में शुरू की गई थी। इसमें असंगठित क्षेत्र के श्रमिकों के जरूरतमंद परिवारों को बच्चे के जन्म के पहले से लेकर पूरे जीवनकाल में मदद दी जाती है। इसमें हाथ ठेला चलाने वाले लोगों से लेकर कबाड़ इकट्ठा करने वाले गरीबों, घरों में काम करने वालों, पत्थर तोड़ने वालों को मदद मिलती है। प्रदेश के ऐसे लाखों गरीब परिवारों के लिये संबल योजना सहारा बनी है।

शिवराज सिंह चौहान