MP : 11वीं और 12वीं के छात्रों के लिए स्कूल शिक्षा विभाग ने पूरा किया यह काम

पिछड़ा वर्ग के कक्षा 11वीं एवं 12वीं की पोस्ट मैट्रिक छात्रवृत्ति का वितरण का कार्य स्कूल शिक्षा विभाग (School Education Department) के माध्यम से किया गया।

स्कूल शिक्षा विभाग

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) के छात्रों (Student) के लिए राहत भरी खबर है। भले ही स्कूल-कॉलेज (School College) पूरी तरह से नहीं खुले हो लेकिन छात्रों से जुड़े काम तेजी से निपटाए जा रहे है।  पिछड़ा वर्ग तथा अल्पसंख्यक कल्याण विभाग (Backward classes and minority welfare department) ने इस वर्ष अब-तक 2 लाख 49 हजार विद्यार्थियों को 325 करोड़ 23 लाख रूपये की पोस्ट मैट्रिक छात्रवृत्ति (Post matric scholarship) ना सिर्फ मंजूर कर दी है, बल्कि वितरित भी की जा चुकी है।

यह भी पढ़े… MP Weather : मप्र में फिर करवट लेगा मौसम, इन जिलों में बारिश की संभावना

खास बात यह है कि यह छात्रवृत्ति (Scholarship) पिछड़ा वर्ग के कक्षा 11वीं, 12वीं, स्नातक एवं स्नातकोत्तर (UG-PG) तथा तकनीकी और व्यावसायिक पाठ्यक्रमों में अध्ययन करने वाले विद्यार्थियों को प्रदान की जाती है। पिछड़ा वर्ग के कक्षा 11वीं एवं 12वीं की पोस्ट मैट्रिक छात्रवृत्ति का वितरण का कार्य स्कूल शिक्षा विभाग (School Education Department) के माध्यम से किया गया।

इसके अलावा पिछड़ा वर्ग एवं अल्पसंख्यक कल्याण विभाग द्वारा इस वर्ष 40 विद्यार्थियों को विदेश अध्ययन छात्रवृत्ति (Foreign study scholarship) का फायदा पहुँचाया गया है। इन विद्यार्थियों को विभाग द्वारा 10 करोड़ 41 लाख रूपये की राशि विदेश अध्ययन छात्रवृत्ति के रूप में दी गई है। इसमें नवीनीकरण की राशि भी शामिल है। इस योजना के माध्यम से प्रदेश के पिछड़ा वर्ग के प्रतिभाशाली विद्यार्थियों को उच्च अध्ययन के लिये प्रतिष्ठित संस्थानों में जाने के अवसर प्रदान किये जा रहे है। चयनित विद्यार्थियों की फीस समेत उनके रहने की व्यवस्था राज्य सरकार द्वारा वहन की जा रही है।

यह भी पढ़े… CM Helpline : अगर ऐसा हुआ तो अधिकारियों को मिलेगा नोटिस, 15 जिलों को सूचना

वही विभाग द्वारा प्रदेश में पिछड़ा वर्ग के प्रतिभाशाली विद्यार्थियों को प्रोत्साहित करने के लिये मेधावी विद्यार्थी पुरस्कार योजना (Meritorious student award scheme) संचालित की जा रही है। योजना के माध्यम से MP Board में कक्षा 10वीं एवं कक्षा 12वीं की बोर्ड परीक्षा (Board Exam) में जिले में सर्वोच्च अंक प्राप्त करने वाले दो छात्र एवं दो छात्राओं को चयनित किया जाता है। कक्षा 10वीं की बोर्ड परीक्षा में सर्वोच्च अंक प्राप्त करने वाले एक छात्र एवं एक छात्रा को 5-5 हजार रूपये और बोर्ड की 12वीं की परीक्षा में सर्वोच्च अंक प्राप्त करने वाले एक छात्र एवं एक छात्रा को 12-12 हजार रूपये की राशि प्रोत्साहन स्वरूप दी जा रही है। इस वर्ष 208 मेधावी विद्यार्थियों को चयन कर लिया गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here