राहुल गांधी के बयान पर सिंधिया समर्थक मंत्री का पलटवार, पहले वे अपने गिरेबां में झांकें

अप्रत्यक्ष रूप से सिंधिया पर कटाक्ष करते हुए कहा कि मुझे कांग्रेस पार्टी में डरपोक नेताओ की जररूत नही है। ऊर्जा मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर (Pradyuman Singh Tomar) ने कहा पहले राहुल गांधी अपने गिरेबां में झांकें।

ग्वालियर, अतुल सक्सेना। मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) के उर्जा मंत्री एवं केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया (Jyotiraditya Scindia) के कट्टर समर्थक प्रद्युम्न सिंह तोमर ने कांग्रेस नेता राहुल गांधी (Rahul Gandhi) के उस बयान पर उन्हें आड़े हाथों लिया है। जिसमें उन्होंने अप्रत्यक्ष रूप से सिंधिया पर कटाक्ष करते हुए कहा कि मुझे कांग्रेस पार्टी में डरपोक नेताओ की जररूत नही है। ऊर्जा मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर (Pradyuman Singh Tomar) ने कहा पहले राहुल गांधी अपने गिरेबां में झांकें।

यह भी पढ़ें…बालाघाट पुलिस को मिली बड़ी सफलता, नक्सली विस्फोटक मामले में अब तक 16 गिरफ्तार

दरअसल राहुल गांधी ने आज शुक्रवार को अपनी पार्टी के सोशल मीडिया टीम के सदस्यों को संबोधित करते हुए कहा कि हमें डरपोक लोगों की जरूरत नहीं है जो RSS के साथ मिल जाये। बहुत से निडर लोग हैं उन्हें अंदर लाओ और डरपोक लोगों को बाहर निकालो। हालांकि राहुल गांधी ने इसमें किसी का नाम नहीं लिया लेकिन समझा जा रहा है कि उनका इशारा ज्योतिरादित्य सिंधिया की तरफ था।

राहुल गांधी का बयान सामने आने के बाद प्रदेश के ऊर्जा मंत्री एवं कट्टर सिंधिया समर्थक प्रद्युम्न सिंह तोमर ने पलटवार किया है। सिंधिया समर्थक नेता ने कहा कि अगर ऐसा बयान राहुल गांधी की तरफ से आया है तो पहले वह अपने अंदर झांक कर देखें।राहुल गांधी को पहले अपने गिरेबां में झांक कर देखना चाहिए और फिर किसी का आंकलन लगाना चाहिए और तब किसी पर कटाक्ष करना चाहिए। उन्होंने कहा किराहुल गांधी खुद डरपोक हैं तभी तो उन्हें उत्तर प्रदेश की अपनी परम्परागत सीट से चुनाव लड़ने में विश्वास नहीं था तभी वह केरल की वायनाड सीट से चुनाव लड़े और वह कहते है कि उन्हें डरपोक लोगों की कांग्रेस में जरूरत नहीं है। राहुल गांधी अपनी ही पार्टी में अध्यक्ष का चुनाव नहीं कर पा रहे हैं ऐसे में डरपोक और निडर कौन है समझ आता है।

ऊर्जा मंत्री ने कहा कि केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया पर कटाक्ष करने से पहले उन्हें उनकी पारिवारिक पृष्ठभूमि के बारे में सोचना चाहिए कि कब कब सिंधिया परिवार ने अपनी अचल संपत्ति को बचाने के लिए इस तरह का कदम उठाया है। उन्होंने कहा कि सिंधिया मूल्यों की राजनीति करते हैं उनके परिवार का देश के विकास में जो अहम योगदान है उसे भुलाया नहीं जा सकता है। उन्हें इस तरह के घटिया आरोपों में घसीटना सर्वथा अनुचित है । उन्होंने कांग्रेस सांसद राहुल गांधी पर व्यंग्य करते हुए कहा कि जो व्यक्ति अपनी पारंपरिक सीट पर अपना वर्चस्व नहीं रख पाया वह सिंधिया पर आरोप नहीं लगाए। सिंधिया परिवार को कभी भी सत्ता और पद की लोलुपता नहीं रही है । उन्होंने यह भी कहा कि राहुल गांधी के नेतृत्व में कांग्रेस की जो आज स्थिति है वह सबके सामने है।

यह भी पढ़ें…Rajgarh : पत्नी ने की पति की हत्या, बेटियों ने खोला राज, इस वजह से दिया वारदात को अंजाम