सिंधिया का घर में ही विरोध, अब NSUI ने दिये बेशर्म के फूल और बेशर्म की माला

ग्वालियर, अतुल सक्सेना। सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया (Jyotiraditya Scindia) को अब उनके घर में ही विरोध झेलना पड़ रहा है। कांग्रेस के नेता जुबानी हमले के साथ साथ कभी महल गेट के आसपास पोस्टर लगाते है तो कभी नारेबाजी करते हैं। अब कांग्रेस का छात्र संगठन NSUI भी विरोध में उतर आया है। NSUI ने सिंधिया को बेशर्म के फूल, बेशर्म की माला भेंट की और बेशर्मी लिखा एक पत्र भी सौंपा।

सिंधिया का घर में ही विरोध, अब NSUI ने दिये बेशर्म के फूल और बेशर्म की माला

NSUI के राष्ट्रीय संयोजक सचिन द्विवेदी के नेतृत्व में कार्यकर्ताओं ने शनिवार को ग्वालियर में ज्योतिरादित्य सिंधिया को बेशर्म की माला दी एवं बेशर्मी का ज्ञापन दिया। NSUI के राष्ट्रीय संयोजक सचिन द्विवेदी ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि जब जनता कोरोना महामारी से मर रही थी जब लॉकडाउन लगा था तब सिंधिया जी कहां थे? अब लॉकडाउन के बाद फिर से राजनीति शुरू कर दी यह सिंधिया जी को बेशर्मी नहीं लगती? जब NSUI और कांग्रेस के नेता कोरोना महामारी के समय लॉकडाउन में लोगों की मदद कर रहे थे तब NSUI के छात्र नेताओं को आप के आदेश पर जेल में बैठाए रखा जाता है क्या यह आपको बेशर्मी नहीं लगती?

NSUI ने कहा कि आज सिंधिया जी लोगों के घरों पर शोक संवेदना व्यक्त करने जा रहे हैं ये दरअसल शोक जताने नहीं उनके जख़्मो को कुरेदने जा रहे हैं क्या ये बेशर्मी नहीं है। इसलिए हमने उन्हें बेशर्म के फूलों की माला और बेशर्म के फूल दिए हैं।