वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह झाला का निधन, भावुक हुए पूर्व सीएम, पीएम ने भी जताया शोक

दिग्विजय सिंह

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। पूर्व केंद्रीय मंत्री और गुजरात (Gujrat) के मोरबी जिले (Morbi District) के वांकानेर के महाराजा दिग्विजय सिंह झाला (Digvijay Singh Jhala) का निधन हो गया है। वे 88 वर्ष के थे और लोकप्रिय होने के साथ साथ राजनीतिक रूप से भी  बहुत सक्रिय थे। मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने उनके निधन पर शोक व्यक्त किया है।

यह भी पढ़े.. पूर्व मंत्री का हार्ट अटैक से निधन, नही होगा अंतिम संस्कार, पूर्व सीएम ने रद्द की प्रेस कॉन्फ्रेंस

बता दें कि महाराजा सिंह दो बार कांग्रेस से विधायक रहे और दो बार सुरेन्द्र नगर से सांसद भी चुने गये थे। वे केंद्र में पर्यावरण मंत्री के रूप में भी अपनी सेवाएं प्रदान कर चुके हैं। उनके पुत्र युवराज केशरीदेव सिंह झाला वर्तमान में BJP में सक्रिय हैं।वांकानेर की गढीया पहाड़ी पर स्थित भव्य रणजीत विलास पैसेल काफी मशहूर है और दिग्विजय सिंह यही पर निवास करते थे। यह महल इतना आकर्षक है कि कई फिल्मों की शूटिंग भी यहां पर हो चुकी है।

यह भी पढ़े.. weather Alert : MP के इन जिलों में 6-7 अप्रैल को चल सकती है लू, यहां बारिश के आसार

महाराजा के निधन पर मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस के राज्यसभा सांसद (Rajya Sabha Congress MP)दिग्विजय सिंह, प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी (PM Narendra Modi), उप राष्ट्रपति एम. वेंकैया नायडू ने गहरा दुख व्यक्त किया है। पूर्व सीएम सिंह ने ट्वीट कर लिखा है कि भारत के पहले पर्यावरण मंत्री दिग्विजय सिंह झाला का 88 वर्ष की आयु में निधन हो गया। महाराजा वांकानेर के निधन के बारे में सुनकर मुझे बहुत दुख हुआ।वे इंदिरा गांधी जी की कैबिनेट में एक पर्यावरणविद् और पूर्व मंत्री थे, ईश्वर उनकी आत्मा को शांति दें।

दिग्विजय सिंह