बजट सत्र 2021 : सरकारी कर्मचारियों को बड़ी सौगातें दे सकती है शिवराज सरकार

बजट सत्र में शिवराज सरकार (Shivraj Governement)  कर्मचारियों को दो इंक्रीमेंट (वार्षिक वेतन वृद्धि और बकाया महंगाई भत्ता) देने की घोषणा कर सकती है।

सरकारी अधिकारी कर्मचारी

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्‍यप्रदेश विधानसभा (Madhya Pradesh Assembly) का बजट सत्र (Budget Session) 22 फरवरी से शुरु होने जा रहा है।इस बजट में कर्मचारियों, अधिकारियों, किसानों और युवाओं को लेकर कई बड़े ऐलान हो सकते है। वही खबर है कि इस बार का बजट कर्मचारियों के लिए बड़ी सौगात लेकर आ सकता है।बजट सत्र में शिवराज सरकार (Shivraj Governement)  कर्मचारियों को दो इंक्रीमेंट (वार्षिक वेतन वृद्धि और बकाया महंगाई भत्ता) देने की घोषणा कर सकती है, अगर ऐसा होता है तो 4.47 लाख सरकारी कर्मचारियों (Government employees) की तनख्वाह में इजाफा होगा।

यह भी पढ़े… केंद्रीय कर्मचारियों को मिलेगा लाभ, नए साल में इतने प्रतिशत बढ़ सकता है DA

दरअसल, कोविड-19 (COVID-19) और आर्थिक तंगी के चलते प्रदेश की शिवराज सरकार ने महंगाई भत्ता ((Dearness Allowance)) व राहत में वृद्धि को स्थगित कर दिया था।इसमें अप्रैल 2020 से कर्मचारियों को 5% की वृद्धि के आदेश जारी होने थे, वही कर्मचारियों को सालाना वेतनवृद्धि भी नहीं दी गई थी।लेकिन अब चर्चाएं जोरों पर है कि शिवराज सरकार आगामी बजट में कर्मचारियों को 25% महंगाई भत्ता (DA) और 2 वार्षिक वेतन वृद्धि देने की घोषणा कर सकती है। इसको लेकर वित्त विभाग (finance department) ने तैयारियां भी शुरु कर दी है।माना जा रहा है कि 1 अप्रैल 2021 के बाद मई तक भुगतान कर दिया जाएगा।

इसको लेकर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (CM Shivraj Singh Chauhan) संकेत भी दे चुके है। हाल ही में उनका एक बयान सामने आया था, जिसमें उन्होंने कहा था कि जैसे-जैसे प्रदेश की वित्तीय स्थिति सुधरेगी राज्य के कर्मचारियों को बकाया महंगाई भत्ते, वार्षिक वेतन वृद्धि और सातवें वेतनमान की अंतिम किस्त का भुगतान कर दिया जाएगा।

यह भी पढ़े… MP Politics : उमा के बाद चर्चाओं में अजय विश्नोई का ट्वीट, क्या है सियासी मायने

बता दे कि प्रदेश में 4.47 लाख सरकारी कर्मचारी है, जिन्हें यह लाभ दिया जाना है। वर्तमान में राज्य सरकार द्वारा सरकारी कर्मचारियों को 12 फीसदी महंगाई भत्ता और केंद्र सरकार के कर्मचारियों को 17 फीसदी महंगाई भत्ता मिल रहा है।अगर सरकार यह सौगात देते है तो करीब 2742 करोड़ रुपए वार्षिक खर्च आएगा।