कोरोना की फेक न्यूज पर शिवराज सरकार सख्त, आईटी एक्ट के तहत की जाएगी कार्रवाई

मध्यप्रदेश में कोरोना को लेकर फेक न्यूज (Fake News) का प्रचार करने वालों के खिलाफ अब आईटी एक्ट के तहत कार्रवाई की जाएगी।

CM शिवराज सिंह चौहान

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्यप्रदेश में सोशल मीडिया (Social Media) पर कोरोना संक्रमण (Covid-19) को लेकर फैलाई जा रही गलत खबरें और फेक न्यूज (Fake News) को लेकर सरकार सख्ती के मूड में है। सोशल मीडिया पर कोरोना से जुड़ी अफवाह फैलाने वालों पर आईटी एक्ट (IT Act) के तहत कार्रवाई की जाएगी। चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास सारंग (Medical Education Minister Vishwas Sarang) ने सख्त लहजे में कहा है कि तथ्यों को बिना परखे सोशल मीडिया पर फेक न्यूज का प्रचार करने वालों के खिलाफ एक्शन लिया जाएगा।

यह भी पढ़ें:-नवोदय विद्यालय में कोरोना की दस्तक, स्टाफ नर्स सहित छह बच्चों की रिपोर्ट पॉजिटिव

मंत्री विश्वास सारंग ने कहा है कि किसी भी खबर को सोशल मीडिया पर प्रसारित करने से पहले तथ्यों को परखना जरूरी है। यदि कोई भी व्यक्ति कोरोना संक्रमण को लेकर सोशल मीडिया पर गलत तरीके से कोई खबर को प्रसारित करेगा और पैनिक क्रियेट करने की कोशिश करेगा तो उसके खिलाफ आईटी एक्ट के तहत कार्रवाई की जाएगी।

यह भी पढ़ें:-कोचिंग बंद किये जाने का विरोध, सरकार से सवाल क्या दमोह में नहीं है कोरोना?

दरअसल प्रदेश में ऑक्सीजन (Oxygen) की कमी और रेमडेसिविर इंजेक्शन (Remdecivir Injection) न मिलने से हो रही मौत को लेकर सोशल मीडिया पर कुछ पोस्ट डाले जा रहे हैं। बताया जा रहा है कि निजी अस्पतालों में एक ही दिन में कई लोगों की मौत हो गई है। कई अस्पतालों में ऑक्सीजन की कमी की बात भी सोशल मीडिया पर प्रचारित की जा रही हैं। अब ऐसी फेक न्यूज फैलाने वालों के खिलाफ सरकार एक्शन के मूड में आ गई है। सरकार ने साफ कर दिया है कि सोशल मीडिया के सहारे यदि गलत खबर प्रसारित की गई तो संबंधित के खिलाफ कार्रवाई होगी। मंत्री विश्वास सारंग ने कहा भोपाल में कोरोना कर्फ्यू आम लोगों से चर्चा के बाद लिया गया फैसला है।