जबलपुर: ऑक्सीजन की कमी से मौत मामले में कलेक्टर ने की टीम गठित, जांच शुरू

जबलपुर में हुई इस बड़ी घटना के बाद प्रशासन हरकत में आया और आनन-फानन में एक जांच टीम गठित कर दी गई। 

ऑक्सीजन
ऑक्सीजन

जबलपुर, संदीप कुमार।  जबलपुर शहर के गैलेक्सी अस्पताल मे आज ऑक्सीजन की कमी से हुई पांच लोगों की मौत के मामले में कलेक्टर कर्मवीर शर्मा ने एक कोच्चि स्तरीय एग्जाम आज टीम गठित की है। इस टीम में एसडीएम जिला अस्पताल में पदस्थ डॉक्टर और तहसीलदार को शामिल किया गया है।  कलेक्टर के द्वारा गठित की गई टीम ने अभी तक गैलेक्सी अस्पताल में ऑक्सीजन संबंधित रखे तमाम दस्तावेजों को जप्त कर लिया है और जांच शुरू कर दी है

अब अस्पताल में कोई मरीज नही होगा भर्ती

ऑक्सीजन की कमी से गैलेक्सी अस्पताल में शुक्रवार को हुई 5 मौतों के बाद अब जिला प्रशासन ने अस्पताल में किसी भी नए मरीज की भर्ती पर रोक लगा दी है इसके अलावा प्रशासन ने अस्पताल प्रबंधन को हिदायत भी दी है कि अगर शासन के निर्देश का किसी भी तरह से अवेलना होती है तो फिर अस्पताल को सील भी किया जा सकता है जानकारी के मुताबिक कलेक्टर कर्मी शर्मा के द्वारा टीम में एसडीएम सिराज खान तहसीलदार सुनील कुमार और डॉ संजय छत्तानी को शामिल किया गया है

ऑक्सीजन की कमी से 5 लोग की गई थी जाने

शुक्रवार की तड़के सुबह गैलेक्सी अस्पताल में अचानक ही ऑक्सीजन की कमी आ गई थी जिसके चलते कोरोना संक्रमित वार्ड में हड़कंप मच गया था  इस वार्ड में करीब 50 लोग इलाज रखें जिनमें की 5 मरीजों की ऑक्सीजन ना मिलने के चलते मौत हो गई थी जबलपुर में हुई इस बड़ी घटना के बाद प्रशासन हरकत में आया और आनन-फानन में एक जांच टीम गठित कर दी गई।

Read More: देवास में बन रहा 250 बेड का सर्व सुविधायुक्त कोविड हॉस्पिटल, कलेक्टर ने किया निरिक्षण

भला हो पुलिसकर्मियों का जिन्होंने बचाई 50 जाने

गैलेक्सी अस्पताल में ऑक्सीजन की कमी आ गई है और मरीज तड़प रहे हैं। यह सूचना जैसे ही जबलपुर पुलिस को लगी तो आनन-फानन में 5 थानों की पुलिस मौके पर तुरंत पहुंची और ऑक्सीजन की व्यवस्था में जुट गई। जैसे-तैसे सिलेंडरों की व्यवस्था हुई और फिर मरीजों को यह ऑक्सीजन पहुंचाई गई।

कलेक्टर बचते रहे मीडिया से

संस्कारधानी जबलपुर में आज ऑक्सीजन की कमी से 5 मरीजों की मौत हो गई। इस पूरे मामले में जबलपुर की मीडिया लगातार कलेक्टर कर्मवीर शर्मा से संपर्क करती रही पर कलेक्टर ने मीडिया का जवाब देना उचित नहीं समझा। कहीं ना कहीं आज 5 लोगों की हुई मौत के बाद से जिला प्रशासन बैकफुट में आ गया है। यही वजह है कि कलेक्टर मीडिया कर्मियों से बात करने में कतराते रहे।