किसानों को लेकर सीएम शिवराज सिंह चौहान ने किए बड़े ऐलान, ऋण भुगतान की तिथि 31 मई

गेहूं उपार्जन (Wheat Procurement) के लिए जिन खरीदी केन्द्रों में 5 मई तक खरीदी होनी थी, वहां अब 15 मई तक खरीदी का कार्य किया जाएगा।

शिवराज सरकार

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान  (Chief Minister Shivraj Singh Chauhan)आज गुरुवार को मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) के किसानों (Farmers) को संबोधित कर रहे है।शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि किसानों को 2020-21 में दिये गये ऋण के भुगतान की अंतिम तिथि पहले मार्च से बढ़ाकर 30 अप्रैल की थी, अब इसे बढ़ाकर 31 मई की जा रही है। इस पर लगने वाले 31 करोड़ के ब्याज का भुगतान किसानों की ओर से मध्यप्रदेश सरकार (MP Government) करेगी।7 मई को प्रदेश के 74 लाख किसानों के खाते में 1,480 करोड़ रुपये की राशि डाली जायेगी।

यह भी पढ़े.. सीएम शिवराज सिंह चौहान बोले-दिवंगत स्वास्थ्यकर्मियों के परिजनों को मिलेगी 50 लाख की सम्मान निधि

शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि किसान कल्याण के लिए जारी योजनाएं चलती रहेंगी। किसान भाइयों-बहनों, मैं आपको आश्वस्त करता हूं कि आपकी उपज का एक-एक दाना खरीदा जायेगा। अब तक 61 लाख मीट्रिक टन से ज्यादा गेहूं खरीदा जा चुका है। चना, मसूर, सरसों की खरीदी भी जारी है।यह आपके और अपनों के जीवन के लिए जरूरी है।आपके प्रयासों का सुपरिणाम भी सामने आने लगा है। पिछले दो दिनों से पॉजीटिविटी रेट कम हो रही है।मैं आपसे एक आग्रह करना चाहता हूं कि कोई विवाह कार्यक्रम न करें। विवाह टाला जा सके, तो टालिये। यदि आवश्यक हो, तो केवल 10 लोगों की उपस्थिति में विवाह संपन्न करवाइये।

शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि प्रिय किसान भाइयों और बहनों, आप सबको प्रणाम! हम सब मिलकर एक अनजान शत्रु से युद्ध लड़ रहे हैं। आप सबके सहयोग से कोरोना से लड़ाई जारी है! इस लड़ाई में हम जीतें, संक्रमण की बढ़ती दर को रोकें, इसमें सरकार कोई कसर नहीं छोड़ रही है।कोरोना से लड़ने के लिए जो आवश्यक संसाधन हैं, उसको जुटाने की हरसंभव कोशिश हम कर रहे हैं। चाहे विमान से ऑक्सीजन के टैंकर भेजना हो, रेल से ऑक्सीजन को मंगाना हो या दवाओं की आपूर्ति सुनिश्चित करना हो, हम दिन-रात जुटे हुए हैं।

यह भी पढ़े.. मप्र के इस जिले में 8 मई तक कोरोना कर्फ्यू, कलेक्टर ने जारी किए आदेश

इससे पहले मुख्यमंत्री ने किसानों को बड़ी राहत देते हुए ऐलान किया था कि गेहूं उपार्जन (Wheat Procurement) के लिए जिन खरीदी केन्द्रों में 5 मई तक खरीदी होनी थी, वहां अब 15 मई तक खरीदी का कार्य किया जाएगा। इसी तरह 15 मई तक खरीदी केन्द्रों में 25 मई तक खरीदी होगी। खरीदी केन्द्रों की क्षमता के अनुसार SMS भेजे जा रहे हैं ताकि केन्द्रों पर भीड़ एकत्र नहीं हो।  प्रदेश में खरीदी की मात्रा के अनुसार बारदाने उपलब्ध हैं।

इधर, कृषि विकास मंत्री कमल पटेल ने घोषणा करते हुए कहा है कि कोरोना से मृत्यु पर मंडी कर्मचारियों के परिजनों को 25 लाख रूपए मिलेंगे।वही मंडी बोर्ड एवं समितियों के कर्मचारियों के परिजनों को इलाज के लिये अग्रिम राशि भी दिये जाने के निर्देश दिये गये हैं। चतुर्थ श्रेणी के कर्मचारी के परिजनों को भी 25 लाख रूपये की राशि प्रदान की जायेगी।

यह भी पढ़े.. मप्र में 92 हजार पार एक्टिव केस, सीएम शिवराज सिंह ने अधिकारियों को दिए ये निर्देश