MP News : किसानों को बड़ी सौगात देने की तैयारी, इस प्रस्ताव को जल्द मिलेगी मंजूरी

कुशवाह ने कहा कि उद्यानिकी फसलों से जुड़े किसानों को उनके उत्पाद रखने के लिये कोल्ड-स्टोरेज (Cold storage) के विभाग को प्राप्त प्रस्ताव पर शीघ्रता से स्वीकृति दी जाये। 

MP

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। आगामी चुनावों और किसान आंदोलन (Farmers Protest) को देखते हुए मध्य प्रदेश (MP) की शिवराज सरकार (Shivraj Government) का पूरा फोकस किसानों (Farmers) पर बना हुआ है। इसी कड़ी में अब उद्यानिकी, खाद्य प्रसंस्करण (स्वतंत्र प्रभार) एवं नर्मदा घाटी विकास राज्यमंत्री भारत सिंह कुशवाह (Bharat Singh Kushwaha) किसानों के हित के लिए कोल्ड-स्टोरेज के प्रस्ताव पर जल्द निर्णय लेने के निर्देश दिए है।

यह भी पढ़े… 7th Pay Commission : मप्र के कर्मचारियों जल्द मिलेगा तोहफा, वित्त विभाग ने भेजा प्रस्ताव

आज शुक्रवार को मंत्रालय में उद्यानिकी विभाग  (Horticulture department) के मंत्री भारत सिंह कुशवाह ने कोल्ड-स्टोरेज के लिये विभाग को प्राप्त प्रस्ताव की वर्गवार समीक्षा की गई।  कुशवाह ने कहा कि उद्यानिकी फसलों से जुड़े किसानों को उनके उत्पाद रखने के लिये कोल्ड-स्टोरेज (Cold storage) के विभाग को प्राप्त प्रस्ताव पर शीघ्रता से स्वीकृति दी जाये।  प्रस्ताव पर गुण-दोष के आधार पर निर्णय लिया जाये और शीघ्र स्वीकृति दी जाये। इस वित्त वर्ष में विभाग द्वारा 60 करोड़ के कोल्ड-स्टोरेज के निर्माण करवाये जाने हैं। कोल्ड-स्टोरेज के निर्माण पर 35 प्रतिशत शासकीय अनुदान है।

राज्य मंत्री  कुशवाह ने कहा कि विभागीय अधिकारियों की कमी के चलते मॉडल विकासखण्डों और नर्सरियों में पर्यवेक्षण के लिये अन्य विभागों से अधिकारियों को प्रतिनियुक्ति पर लेकर नोडल अधिकारियों की नियुक्ति की जाये।बैठक में बताया गया कि विभाग को 500 मीट्रिक टन क्षमता के 707, एक हजार मीट्रिक टन क्षमता के 463 और 5 हजार मीट्रिक टन क्षमता के 71 कुल 1241 प्रस्ताव प्राप्त हुए हैं।

यह भी पढ़े… MP Assembly : 72 घंटे के अंदर दिवंगत कर्मचारी के बेटे को दी गई अनुकम्पा नियुक्ति

वही कुशवाह ने मॉडल विकासखण्डों में दिये गये लक्ष्य के अनुसार किये गये कार्यों की प्रगति की भी समीक्षा की। बैठक में संभागीय स्तर पर महिला, कृषक प्रशिक्षण शिविर (Farmers Training Camp), फूड प्रोसेसिंग (Food processing) इकाइयों की प्रदर्शनियों को आयोजित करने के संबंध में भी चर्चा की गई। विभाग की 262 फूड प्रोसेसिंग इकाइयों को उन्नयन करने की योजना की अद्यतन प्रगति के संबंध में भी चर्चा की गई।

बैठक में उद्यानिकी विभाग की नर्सरियों और विकासखण्डों को एक्सीलेंस सेंटर के रूप में बनाने के संबंध में भी चर्चा हुई। राज्य की उद्यानिकी विभाग की गतिविधियों एवं योजनाओं में देश में पहले स्थानों में गिनती हो। विभाग को इस तरह लक्ष्य तय करके कार्य करना है। बैठक में प्रमुख सचिव, उद्यानिकी श्रीमती कल्पना श्रीवास्तव और अन्य अधिकारी मौजूद थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here