MP Transport : परिवहन निरीक्षक के आतंक से परेशान ट्रांसपोर्टर, CM ने दिए कार्रवाई के निर्देश

mp transport

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्यप्रदेश (Madhya Pradesh) में एक परिवहन निरीक्षक डी.पी.पटेल (Transport Inspector DP Patel) आला अधिकारियों सहित समूचे तंत्र पर इस कदर भारी पड़ रहा है, इसका उदाहरण आया है ।इंदौर (Indore) ट्रक ऑपरेटर (Truck operator) और ट्रांसपोर्ट एसोसिएशन (Transport Association के अध्यक्ष मुकाती के ट्रक नंबर MP09 HH 4961 को बीती रात बालसमध (सेंधवा)परिवहन (Transportation) चेक पोस्ट पर 12 घंटे से ज्यादा समय रोक कर रखा गया।

परिवहन आयुक्त (MP Transport Commissioner) से शिकायत करने के बाद भी ट्रक सुबह छोड़ा गया ।मुकाती ने परिवहन आयुक्त से इसकी शिकायत की है और आगे से ऐसा होने पर पूरे प्रदेश में व्यापक आंदोलन की चेतावनी दी है। इतना ही नहीं एसोसिएशन ने एक पत्र लिखकर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Chief Minister Shivraj Singh Chauhan) को परिवहन चेक पोस्टो पर हो रही गड़बड़ियों को लेकर शिकायत भी की है जिसे लेकर मुख्यमंत्री ने संज्ञान लेते हुए परिवहन विभाग (Transport Department) को आगामी कार्रवाई करने के निर्देश दिए हैं ।

ट्रांसपोर्ट एसोसिएशन (Transport Association) के अध्यक्ष का आरोप है कि परिवहन निरीक्षक डी.पी.पटेल लगातार इस बात को लेकर धौस देते रहते हैं कि वह दिल्ली स्थित एक बड़े भाजपा पदाधिकारी के बेहद खास हैं और उन्हीं के कहने पर उनको हमेशा मलाईदार पोस्टिंग मिली है। उनका यह भी कहना रहता है कि चाहे कितनी भी शिकायतें कर ली जाए उसके बावजूद कोई उनका कुछ नहीं बिगाड़ सकता क्योंकि उनके संबंध उच्च स्तर पर है ।

यह भी पढ़े..MP Transport : प्रदेश के 5082 वाहन चालकों के लाइसेंस निलंबित, यह है बड़ा कारण

मध्य प्रदेश के पूर्व परिवहन मंत्री गोविंद सिंह राजपूत (Former Transport Minister Govind Singh Rajput) के बीच चुनाव प्रचार (Election Campaign) के दौरान एक ऑडियो वायरल (Audio Viral) हुआ था जिसमें ट्रक एसोसिएशन के अध्यक्ष के साथ एक पदाधिकारी ने इस बात का खुलासा किया था कि उक्त परिवहन निरीक्षक डी.पी.पटेल परिवहन मंत्री की छवि बिगाड़ने का काम कर रहे हैं और उनके नाम पर यह कहकर वसूली कर रहे हैं कि चुनावी चंदा देना है ।

एसोसिएशन के अध्यक्ष का यह भी कहना है कि उक्त निरीक्षक का यह भी दावा है कि मध्य प्रदेश के कई परिवहन चेकपोस्ट प्रभारी उन्हीं के इशारे पर पदस्थ किए गए है। मामला मुख्यमंत्री के संज्ञान में पहुंच चुका है और मुख्यमंत्री कार्यालय द्वारा 4 नवम्बर (4 November) को प्राप्त इस पत्र को अब परिवहन विभाग को कार्रवाई के लिए भेज दिया गया है और उम्मीद है कि जल्द इस पर इस निरीक्षक की जांच हो कर उस पर कार्रवाई होगी।

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here