MP News – नगरीय निकाय चुनाव को लेकर मुकुल वासनिक का बड़ा बयान

मुकुल वासनिक ने कहा कि मैं आज भोपाल (Bhopal) आया हूं, यहाँ पर आज वरिष्ठ नेताओ, ज़िला कांग्रेस कमेटी के पदाधिकारियों, मोर्चा संगठनो के पदाधिकारियों व सभी से मिलकर , बैठकर चर्चा करूँगा।

mukul-wasnik

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। तीन दिवसीय दौरे पर मध्यप्रदेश (Madhya Pradesh) दौरे पर पहुंचे अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के महासचिव और प्रदेश के प्रभारी मुकुल वासनिक(Mukul Wasnik) का बड़ा बयान सामने आया है।नगरीय निकाय चुनाव  में विधायकों को लड़ाने पर वासनिक ने कहा कि अभी इस पर कोई फ़ैसला नहीं लिया है, मध्य प्रदेश कांग्रेस कमेटी और वरिष्ठ नेता चर्चा कर अंतिम फैसला लेंगे।

यह भी पढ़े…नगरीय निकाय चुनाव : इन जिलों में प्रभारी-सह प्रभारी नियुक्त, पूर्व मंत्रियों को बड़ी जिम्मेदारी

दरअसल, उपचुनाव (By-election) में मिली करारी हार के बाद कांग्रेस ने नगरीय निकाय चुनाव (Urban Body Elections) की तैयारियां तेज कर दी है। नगर निगमों के लिए प्रभारी और सह प्रभारी नियुक्त किए जाने और पूर्व मंत्रियों-विधायकों को जिम्मेदारी देने के बाद कांग्रेस ने आगे की रणनीतियों पर काम करना शुरु कर दिया है।इसी के चलते आज अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के महासचिव और मध्य प्रदेश के प्रभारी मुकुल वासनिक(Mukul Wasnik) तीन दिवसीय दौरे पर पहुंचे है।

यह भी पढ़े…नगरीय निकाय चुनाव: कांग्रेस का इन दिग्गजों से भरोसा उठा, नहीं सौंपी जिम्मेदारी

वासनिक16 दिसंबर से 19 दिसंबर(December) तक प्रदेश के प्रवास पर रहेंगे और भोपाल, जबलपुर, रीवा के साथ सागर संभाग मुख्यालय पर जिला कांग्रेस कमेटी के पदाधिकारियों कार्यकर्ताओं के साथ बैठक करेंगे। आज मीडिया से चर्चा करते हुए  मुकुल वासनिक ने कहा कि मैं आज भोपाल (Bhopal) आया हूं, यहाँ पर आज वरिष्ठ नेताओ, ज़िला कांग्रेस कमेटी के पदाधिकारियों, मोर्चा संगठनो के पदाधिकारियों व सभी से मिलकर , बैठकर चर्चा करूँगा।उसके बाद मै सागर , जबलपुर (Jabalpur) व रीवा संभाग जा रहा हूँ।वहाँ पर भी सभी से मिलकर नगरीय निकाय चुनाव की आगामी रणनीति व तैयारियों को लेकर सभी से चर्चा करूंगा।

कांग्रेस के सामने कई चुनौतियां

वासनिक ने कहा कि आज हमारे सामने क्या चुनौतियाँ है , वर्तमान में क्या स्थिति है , उस संदर्भ में फ़ैसलों को हम कैसे अंतिम रूप दे और उसके बाद मै प्रदेश के अन्य संभागो में जाऊँगा और उसके बाद हम अपनी रणनीति व तैयारियों को अंतिम रूप देंगे।नगरीय निकाय चुनाव में विधायकों को लड़ाने पर वासनिक ने कहा कि अभी इस पर कोई फ़ैसला नहीं लिया है, मध्य प्रदेश कांग्रेस कमेटी (Madhya Pradesh Congress Committee) और वरिष्ठ नेता चर्चा कर अंतिम फैसला लेंगे।

संगठन में बदलाव सतत प्रक्रिया

प्रदेश कांग्रेस कमेटी के पुनर्गठन पर कहा कि यह प्रक्रिया कभी रुक नहीं सकती है, हमारी कोशिश रहती है कि ऊर्जावान लोगों को साथ में जोड़ते रहे। संगठन को मज़बूत करते रहे और अनुभवी लोगों का नाम लेते रहे। यह एक सतत चलने वाली प्रक्रिया है, कभी रुक नहीं सकती है। वही युवक कांग्रेस के चुनाव में सामने आ रही शिकायत को लेकर कहा कि यह विषय युवक कांग्रेस से संबंधित है , उसका निराकरण युवक कांग्रेस का नेतृत्व ही करेगा।वही मौजूदा कांग्रेस कार्यकारिणी भंग करने को लेकर कहा कि संगठन को मजबूत करने के लिए हर कदम उठाएंगे, अगर जरूरत पड़ेगी तो वो भी फैसला लेंगे। बैठक का मकसद कांग्रेस संगठन को मजबूत करना है।

संकल्प पत्र का सहारा

विधानसभा और उपचुनावों की तरह कांग्रेस (Congress) निकाय चुनाव में भी वचन पत्र का सहारा लेने जा रही है। इसके लिए अलग अलग पत्र जारी किए जाएंगे। हर निकाय का अलग-अलग संकल्प पत्र तैयार किया जाएगा, इसमें स्थानीय मुद्दों के साथ कई किसान समेत कई मुद्दों को भी शामिल किया जा सकता है।

डीसीसी फॉर्मूले पर फोकस

उपचुनाव में करारी हार से सबक लेने के बाद कांग्रेस ने फैसला किया है कि वह  इस बार उम्मीदवारों का चयन जिला कांग्रेस कमेटी (DCC) की सिफारिश के आधार पर करेगी। इसके लिए सभी निकायों में प्रत्याशी चयन के लिए स्थानीय स्तर पर समितियां गठित की गई है। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमल नाथ (Kamal Nath) ने जिला अध्यक्षों को निर्देश दिए हैं कि समितियां पैनल बनाने की जगह एक नाम का चयन करके प्रदेश कांग्रेस को भेजें।