MP के मुख्यमंत्री बदलने की चर्चाओं पर क्या बोले कैलाश विजयवर्गीय, देखें वीडियो

कैलाश विजयवर्गीय के कहा कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान संवेदनशील सीएम हैं।

कैलाश विजयवर्गीय

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। भाजपा (BJP) द्वारा एक के बाद एक राज्यों के मुख्यमंत्री (CM) बदलने के घटनाक्रम के बाद सियासी गलियारों में मप्र के भी मुख्यमंत्री बदलने की अटकलों पर भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय (Kailash Vijayvargiya)  ने विराम लगा दिया है।कैलाश विजयवर्गीय ने साफ कहा है कि मप्र में कोई मुख्यमंत्री नहीं बदलेगा। शिवराज सिंह चौहान जी के नेतृत्व में सरकार बहुत अच्छी चल रही है।

यह भी पढ़े.. VIDEO: राज्‍यसभा में हंगामा, कांग्रेस सांसद ने मेज पर चढ़ फेंकी रूल बुक, जमकर नारेबाजी

कैलाश विजयवर्गीय के कहा कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Chief Minister Shivraj Singh Chouhan) संवेदनशील सीएम हैं। वही मुख्यमंत्री बने रहेंगे। वह बाढ़ वाले दिन रात भर नहीं सोए और लगातार जनता की सेवा में लगे रहे।ये मध्य प्रदेश के लिए गौरव की बात है कि शिवराज सिंह चौहान मुख्यमंत्री है।वही मप्र के दौरे पर कहा कि मुझे आपको भी न्यूज देनी होती है, मुझे जिस दिन खबर देना होगा, मैं दो लाइन की खबर नहीं दूंगा, मैं पूरे पेज की खबर दूंगा। वही गवर्नर से मुलाकात पर कहा कि राज्यपाल जी से मेरे पुराने संबंध है, इसीलिए उनसे मुलाकात की। उनके मध्य प्रदेश आने के बाद से मुलाकात नहीं हुई थी।

दरअसल, बीते दिनों बीजेपी नेताओं की डिनर-लंच पॉलिटिक्स के बाद से ही सियासी गलियारों में यह सवाल चर्चा का विषय बना हुआ है।कुछ दिन पहले पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह (Digvijay Singh) ने एक ट्वीट कर सियासी गलियारों में हलचल मचा दी थी। दिग्गविजय ने पूछा था कि क्या एमपी में भी बीजेपी मुख्यमंत्री बदलेगी? इतना ही नहीं उन्होंने तो कई नेताओं के नाम भी सुझाए थे। इसके बाद हाल ही में कांग्रेस विधायक जयवर्धन सिंह ने भी ट्वीट कर लिखा था कि कर्नाटक के बाद क्या अगला नंबर मध्य प्रदेश का है?  हालांकि बीजेपी के कई बड़े नेता इस बात को नकार चुके है और हाल ही में पीएम मोदी भी सीएम शिवराज सिंह चौहान की मंच से जमकर तारीफ कर साफ संकेत दे चुके है।

यह भी पढ़े.. MP: 6 पंचायत सचिव निलंबित, 7 सरपंचों को हटाया, 3 इंजीनियरों का वेतन काटा, 3 को नोटिस

इसके अलावा कैलाश विजयवर्गीय ने राहुल गांधी (Rahul Gandhi) के खुद कश्मीरी पंडित के बयान पर कहा कि अगर वह कश्मीरी पंडित हैं, तो आज तक जो अपने ही देश में शरणार्थियों को तरह पड़े हैं, उनके लिए कांग्रेस की सरकार में क्यूँ कुछ नहीं किया गया ।राहुल गांधी वायनाड जाते हैं, तो गोल टोपी पहन लेते हैं। कश्मीर जाते हैं तो पंडित बन जाते हैं। राहुल गांधी तो अलग ही है, जहाँ जाते हैं वहीं के हो जाते हैं, ऐसे नेता का कोई भविष्य नहीं रहता।