चाय के साथ भूलकर भी ना खाएं ये 6 चीजें, वरना सेहत के लिए हो सकता है नुकसानदायक

TEA

Never Intake these Foods With Tea: चाय आजकल लोगों के लिए फैशन बन चुका है। ऐसा माना जाता है कि चाय शराब के नशे से भी ज्यादा खराब है। आजकल हर गली मोहल्ले में चाय की एक छोटी सी टपरी खोलकर वहां पर नव युवकों की काफी भीड़ देखने को मिलती है। चाय के शौकिन लोग नए- नए तरह के फ्लेवर की चाय टेस्ट करना पसंद करते हैं।

कई लोगों के दिन की शुरुआत चाय से ही होती है। सुबह बिस्तर से उठते ही लोगों को चाय पीने की आदत है। लोग दूध और चीनी की चाय तो स्वाद लेकर पीते ही हैं, साथ ही हर्बल टी की डिमांड भी पिछले कुछ समय में काफी बढ़ गई है। कई लोग को समय पर चाय नहीं मिलने पर सिर दर्द की समस्या से होती है।

Bhopal Famous Tea Spot

आज के आर्टिकल में हम आपको चाय के साथ इन चीजों के सेवन से होने वाली हानि के बारे में बताएंगे। यदि आप भी अक्सर इन चीजों को चाय की चुसकियों के साथ खाना पसंद करते हों तो सावधान हो जाइए क्योंकि इसका असर आपके स्वस्थ पर देखने को मिल सकता है।

नींबू का सेवन से बचें

नींबू की चाय के साथ दूध का सेवन नहीं करना चाहिए। नींबू के अम्लता से मिलकर दूध के प्रोटीन को जमा करने में कठिनाई होती है जो आपके पाचन तंत्र को प्रभावित करती है। इससे पाचन तंत्र को संक्रमण जैसी विभिन्न समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है। इसके अलावा, कुछ खाद्य पदार्थ भी होते हैं जो चाय के साथ सेवन किए जाने से समस्याएं पैदा कर सकते हैं।

चाय के साथ अधिक मात्रा में शक्कर, स्पाइस या मसाले का सेवन करना बुरा हो सकता है। अधिक मात्रा में कैफीन का सेवन भी समस्याएं पैदा कर सकता है जैसे कि नींद न आना या उत्तेजित होना।

ठंडे फूड खानें से बचें

आइसक्रीम जैसे ठंडे फूड प्रोडक्ट को चाय के साथ खाना सही नहीं होता है। यह इसलिए है कि चाय में कैफीन होता है, जो एक स्टिमुलेंट होता है, जो आपके शरीर को जागृत रखता है, जबकि आइसक्रीम जैसे ठंडे फूड प्रोडक्ट शरीर को शांत कर देते हैं।

इसलिए ये दोनों फूड प्रोडक्ट एक साथ खाने से आपके शरीर को कॉन्फ्यूज करता है और उसे डाइजेशन प्रोसेस के दौरान मुश्किलों का सामना करना पड़ता है। इसलिए, आपको इन दोनों फूड प्रोडक्ट्स को अलग-अलग समयों पर खाना चाहिए।

हल्दी से हो सकती है समस्या

हल्दी एक शक्तिशाली औषधि होती है जिसमें कई स्वास्थ्य लाभ होते है लेकिन यह चाय के साथ मिलाने से दोषों को उत्पन्न कर सकता है। इसमें मौजूद अधिक मात्रा में कुछ तत्व जैसे कुछ तरल पदार्थ और कर्कट तत्व होते हैं जो आपके पाचन तंत्र के लिए कठिन हो सकते हैं।

इससे पाचन तंत्र के विकार, जैसे अपच, गैस, बदहजमी, दस्त और लगातार उलटी हो सकती है। चाय में मौजूद कैफीन भी आपके पाचन तंत्र को प्रभावित कर सकता है और अधिक मात्रा में लेने से आपको हार्टबर्न जैसी समस्याएं हो सकती हैं।

इसलिए, हल्दी को चाय के साथ मिलाने से बेहतर होगा कि आप इसे अलग से ले। आप अपने भोजन में हल्दी जोड़ सकते हैं, जैसे दाल, सब्जियों, रायता, लेमनेड आदि। इसके अलावा, आप गुड़ और हल्दी का मिश्रण भी तैयार कर सकते हैं, जो एक स्वस्थ विकल्प हो सकता है।

बेसन से बनी चीजों को करें इग्नोर

चाय के साथ पकोड़े या अन्य तले हुए चीजें अधिक मात्रा में खाने से नुकसानदायक हो सकते हैं। ये खाद्य पदार्थ ज्यादातर तेल में तले हुए होते हैं जो उच्च वसा और उच्च कैलोरी का स्रोत होते हैं। इसके अलावा, अधिक मात्रा में बेसन खाने से पाचन संबंधी समस्याएं हो सकती हैं, जैसे कि कब्ज और अपच।

अगर आप इन चीजों को कम मात्रा में और समझदारी से खाते हैं तो इन्हें खाने से आपको कोई नुकसान नहीं होगा। हालांकि, यदि आप अपनी स्वस्थता के बारे में चिंतित हैं तो आपको नुकसानदायक खाद्य पदार्थों की जगह स्वस्थ विकल्पों का सेवन करना चाहिए।

आयरन रिच फूड्स

चाय में मौजूद टैनिन आयरन के अवशोषण को कम कर सकता है इसलिए आप आयरन रिच फूड्स को चाय के साथ खाने से परहेज करने की सलाह देते हुए सही हैं। हालांकि, इससे यह नहीं माना जा सकता कि आपको चाय पीने से बिल्कुल बचना चाहिए।

चाय के साथ आयरन संपोषित खाद्य पदार्थ खाने से पहले और बाद में कुछ समय रखने से आयरन का सही अवशोषण होता है। इसके अलावा, अन्य आहार जैसे ऑरेंज जूस, गुड़, अंगूर, अखरोट और सेब जैसे आयरन संपोषित फल और अनाज का सेवन करने से आप अपने आयरन स्तर को ऊंचा रख सकते हैं।

मेवे का सेवन ना करें

मेवा आयरन से भरपूर होते हैं जो चाय और दूध दोनों के साथ असंयोज्य होते हैं। इसलिए, आप चाय पीने के दौरान मेवे खाने से बचें या अधिक मात्रा में न खाएं। इसके बजाय, आप उन्हें अन्य समग्रियों के साथ मिलाकर खाने की कोशिश कर सकते हैं। आप अलग-अलग तरह के मेवों जैसे कि किशमिश, बादाम, अखरोट, काजू, मूंगफली आदि का सेवन कर सकते हैं जो अपने आप में बहुत स्वास्थ्यप्रद होते हैं।

(डिस्क्लेमर – इस लेख में दी गई सूचनाएं सिर्फ मान्यताओं और जानकारियों पर आधारित है। एमपी ब्रेकिंग इनकी पुष्टि नहीं करता है। किसी भी जानकारी या मान्यता को अमल में लाने से पहले संबंधित विशेषज्ञ की सलाह लें।)


About Author
Sanjucta Pandit

Sanjucta Pandit

मैं संयुक्ता पंडित वर्ष 2022 से MP Breaking में बतौर सीनियर कंटेंट राइटर काम कर रही हूँ। डिप्लोमा इन मास कम्युनिकेशन और बीए की पढ़ाई करने के बाद से ही मुझे पत्रकार बनना था। जिसके लिए मैं लगातार मध्य प्रदेश की ऑनलाइन वेब साइट्स लाइव इंडिया, VIP News Channel, Khabar Bharat में काम किया है। पत्रकारिता लोकतंत्र का अघोषित चौथा स्तंभ माना जाता है। जिसका मुख्य काम है लोगों की बात को सरकार तक पहुंचाना। इसलिए मैं पिछले 5 सालों से इस क्षेत्र में कार्य कर रही हुं।

Other Latest News