Top Monsoon Destinations: बरसात के मौसम में घूमने लायक हैं ये 3 जगहें, आस-पास की हरियाली मोह लेगी मन

Top Monsoon Destinations: मानसून का मौसम रोमांच और मौज-मस्ती का मौसम होता है। बारिश की बूंदों का धरती पर गिरना, हरियाली का दमकना, मन को मोह लेता है। अगर आप भी इस खूबसूरत मौसम का आनंद उठाना चाहते हैं, तो पटना के आसपास की इन हसीन जगहों पर जरूर जाएं।

monsoon

Top Monsoon Destinations: पवित्र गंगा नदी के तट पर बसा बिहार की राजधानी, पटना, अपनी प्राचीन विरासत और आधुनिक चहल-पहल के लिए जाना जाता है। माना जाता है कि यह दुनिया के सबसे पुराने लगातार बसे हुए शहरों में से एक है, जिसका इतिहास 600 ईसा पूर्व से भी पहले का है। पटना कभी मौर्य साम्राज्य की शानदार राजधानी, पाटलिपुत्र हुआ करता था। इस ऐतिहासिक नगरी की गलियां सम्राटों, विद्वानों और कलाकारों की कहानियां अपने सीने में समेटे हुए हैं। आज का पटना एक जीवंत महानगर है, जो पर्यटकों को प्राचीन स्मारकों, भव्य मंदिरों, आधुनिक संग्रहालयों और स्वादिष्ट व्यंजनों का अनूठा मिश्रण प्रदान करता है। हजारों सैलानी सालाना इस खूबसूरत शहर की ओर रुख करते हैं, जो इतिहास और आधुनिकता के संगम का साक्षी बनने के लिए आतुर रहते हैं।

बरसात के मौसम में घूमने लायक हैं ये 3 जगहें

नालंदा

बिहार की धरती पर इतिहास, प्रकृति और रोमांच का एक अनूठा संगम देखना चाहते हैं, तो राजगीर से बेहतर जगह आपकी यात्रा के लिए कम ही मिलेगी। नालंदा जिले में स्थित यह खूबसूरत शहर प्राचीन काल से ही जैन और बौद्ध धर्म के अनुयायियों के लिए एक महत्वपूर्ण तीर्थ स्थल रहा है। भगवान बुद्ध और महावीर ने कई वर्षों तक यहीं निवास किया था। यहाँ के वातावरण में शांति और आध्यात्मिकता का ऐसा सम्मोहन है, जो हर किसी को अपनी ओर खींच लेता है। राजगीर का इतिहास समृद्ध है। कभी मौर्य साम्राज्य के शासनकाल में मगध की राजधानी के रूप में विख्यात, राजगीर आज भी अपने भव्य अतीत की कहानियां अपने भग्नावशेषों और स्मारकों में समेटे हुए है। विश्व प्रसिद्ध नालंदा विश्वविद्यालय के खंडहर भी राजगीर के पास ही स्थित हैं।

बोधगया

बिहार की धरती पर स्थित बोधगया सिर्फ पटना के आसपास का एक लोकप्रिय पर्यटन स्थल ही नहीं है, बल्कि यह एक ऐसा ऐतिहासिक और आध्यात्मिक केंद्र है, जिसकी महिमा विश्व भर में फैली हुई है। बोधगया को भगवान बुद्ध की नगरी के नाम से भी जाना जाता है। यही वह पवित्र भूमि है, जहां लगभग 2500 वर्ष पूर्व गौतम बुद्ध को बोधिवृक्ष के नीचे ज्ञान प्राप्त हुआ था। बौद्ध धर्म के अनुयायियों के लिए बोधगया तीर्थयात्रा का एक महत्वपूर्ण केंद्र है। यहां आकर श्रद्धालु न केवल इतिहास के पवित्र स्पर्श का अनुभव करते हैं, बल्कि अपने आत्मिक विकास की यात्रा भी आरंभ करते हैं।

नवादा शहर

बिहार के दक्षिणींचल में बसा नवादा शहर, इतिहास, प्राकृतिक सौंदर्य और धार्मिक आस्था का त्रिकोण माना जाता है। पटना से करीब 100 किलोमीटर की दूरी पर स्थित यह शहर, न केवल अपनी खूबसूरती के लिए, बल्कि अपने समृद्ध अतीत के लिए भी जाना जाता है। लॉन्ग ड्राइव के शौकीनों के बीच भी नवादा काफी लोकप्रिय है। मानसून के दौरान तो नवादा की रौनक देखते ही बनती है। चारों तरफ फैली हरियाली और मनोरम दृश्य पर्यटकों को अपनी ओर खींच लेते हैं।

 


About Author
भावना चौबे

भावना चौबे

इस रंगीन दुनिया में खबरों का अपना अलग ही रंग होता है। यह रंग इतना चमकदार होता है कि सभी की आंखें खोल देता है। यह कहना बिल्कुल गलत नहीं होगा कि कलम में बहुत ताकत होती है। इसी ताकत को बरकरार रखने के लिए मैं हर रोज पत्रकारिता के नए-नए पहलुओं को समझती और सीखती हूं। मैंने श्री वैष्णव इंस्टिट्यूट ऑफ़ जर्नलिज्म एंड मास कम्युनिकेशन इंदौर से बीए स्नातक किया है। अपनी रुचि को आगे बढ़ाते हुए, मैं अब DAVV यूनिवर्सिटी में इसी विषय में स्नातकोत्तर कर रही हूं। पत्रकारिता का यह सफर अभी शुरू हुआ है, लेकिन मैं इसमें आगे बढ़ने के लिए उत्सुक हूं। मुझे कंटेंट राइटिंग, कॉपी राइटिंग और वॉइस ओवर का अच्छा ज्ञान है। मुझे मनोरंजन, जीवनशैली और धर्म जैसे विषयों पर लिखना अच्छा लगता है। मेरा मानना है कि पत्रकारिता समाज का दर्पण है। यह समाज को सच दिखाने और लोगों को जागरूक करने का एक महत्वपूर्ण माध्यम है। मैं अपनी लेखनी के माध्यम से समाज में सकारात्मक बदलाव लाने का प्रयास करूंगी।

Other Latest News