Top Valley: मानसून में घूमने लायक भारत की 4 मनमोहक घाटियां, होता है जन्नत सा एहसास

Top Valley: दक्षिण भारत अपनी समृद्ध संस्कृति, प्राचीन मंदिरों और मनमोहक प्राकृतिक सुंदरता के लिए जाना जाता है। इन सबके बीच, आंध्र प्रदेश अपनी खूबसूरत घाटियों के लिए भी पर्यटकों को आकर्षित करता है। मानसून के मौसम में, ये घाटियां और भी हरी-भरी और जीवंत हो जाती हैं, जिससे यह घूमने के लिए एक आदर्श स्थान बन जाता है। चाहे आप प्रकृति प्रेमी हों, रोमांच चाहने वाले हों, या बस शांत वातावरण में आराम करना चाहते हों, आंध्र प्रदेश की घाटियां आपके लिए कुछ न कुछ जरूर पेश करती हैं।

भावना चौबे
Published on -
valley

Top Valley: मानसून का आगमन न केवल खेतों में हरियाली लाता है, बल्कि प्रकृति प्रेमियों के लिए भी खुशखबरी लेकर आता है। यह वह समय होता है जब चारों ओर हरियाली का कंबल बिछ जाता है, झरने रफ्तार पकड़ लेते हैं, और वातावरण एक ताज़गी से भर जाता है। दक्षिण भारत तो अपनी प्राकृतिक सुंदरता के लिए जाना ही जाता है, और मानसून इस खूबसूरती को और भी निखार देता है।

आज हम आपको ले चलते हैं आंध्र प्रदेश की खूबसूरत घाटियों की सैर पर, जहां आप मानसून के जादू का अनुभव कर सकते हैं। प्राचीन मंदिरों, समृद्ध संस्कृति और लुभावने परिदृश्यों के लिए प्रसिद्ध, आंध्र प्रदेश अपने प्राकृतिक सौंदर्य से भी पर्यटकों को मंत्रमुग्ध कर देता है। मानसून के दौरान, इसकी घाटियां और भी ज्यादा जीवंत हो जाती हैं, जो उन्हें घूमने के लिए एक आदर्श स्थान बनाती हैं। तो फिर चाहे आप परिवार के साथ खुशनुमा पल बिताना चाहते हों, दोस्तों के साथ मस्ती करनी हो, या फिर प्रेमी के साथ रोमांटिक पलों को समेटना हो, आंध्र प्रदेश की ये घाटियां आपकी हर इच्छा को पूरा करेंगी। आइए, अब हम आपको उन कुछ चुनिंदा घाटियों के बारे में विस्तार से बताते हैं, जहां आप मानसून का भरपूर आनंद उठा सकते हैं…

इन घाटियों में होता है जन्नत सा एहसास

अरकू वैली

आंध्र प्रदेश की खूबसूरती का असली जादू देखना है? अरकू वैली से बेहतर और कोई जगह नहीं। बादलों को छूते पहाड़, हरे घास के मैदान, झिलमिलाती झीलें और मनमोहक झरने, अरकू वैली की प्राकृतिक छटा देखते ही बनती है। मानसून के दौरान तो मानो धरती पर जन्नत उतर आती है। ट्रैकिंग करते हुए प्राकृतिक सौंदर्य निहारें, बोटिंग का मजा लें या फिर बोरा गुफाओं के रहस्य को जानें, अरकू वैली में हर किसी के लिए कुछ न कुछ है। तो इंतज़ाम कर लीजिए, अरकू वैली की खूबसूरती का दीदार करने का वक्त है।

लांबासिंगी वैली

पहाड़ों को छूती ठंडी हवाएं और हसीन चाय-कॉफी के बागान, लांबासिंगी वैली आंध्र प्रदेश का छुपा हुआ रत्न है। समुद्र तल से 1000 मीटर की ऊंचाई पर स्थित, इसे “दक्षिण भारत का कश्मीर” भी कहा जाता है। घने जंगल, ऊंचे पहाड़ और शांत झीलें मिलकर इसे आकर्षक बनाते हैं। ट्रैकिंग करते हुए प्राकृतिक सौंदर्य का आनंद लें, कैंपिंग का मजा लें या स्थानीय आदिवासी संस्कृति को जानें, लांबासिंगी हर किसी के लिए कुछ न कुछ खास समेटे हुए है।

हॉर्सले हिल्स

आंध्र प्रदेश की खूबसूरती हिल स्टेशनों तक भी सिमटी नहीं है। हॉर्सले हिल्स, “आंध्र का ऊटी”, प्रकृति प्रेमियों का स्वर्ग है। मनोरम पहाड़ी दृश्य, शांत वातावरण और रोमांचक गतिविधियां, हॉर्सले हिल्स में सबकुछ है। मानसून के दौरान तो हरी-भरी पहाड़ियां और झरने मिलकर इसे जन्नत बना देते हैं। ट्रैकिंग करते हुए प्राकृतिक सौंदर्य निहारें, रॉक क्लाइम्बिंग का रोमांच जिएं या पैराग्लाइडिंग से आसमान का स्पर्श करें, हॉर्सले हिल्स हर तरह के सैलानी को मंत्रमुग्ध कर देता है।

डोंगुरी घाटी

प्राकृतिक सौंदर्य का खजाना डोंगुरी घाटी, प्रकृति प्रेमियों, साहसी पर्यटकों और संस्कृति के दीवाने सभी को मंत्रमुग्ध कर देती है। घने जंगल, ऊंचे पहाड़, शांत झीलें और मानसून के दौरान झरनों की भरमार, यह घाटी किसी स्वर्ग से कम नहीं लगती। रोमांचक ट्रेकिंग ट्रेल्स का जाल बिछाए, आदिवासी संस्कृति से रूबरू कराती डोंगुरी घाटी, शहरी कोलाहल से दूर शांति का अनुभव भी कराती है। ट्रैकिंग करते हुए प्राकृतिक सौंदर्य निहारें, बोटिंग का मजा लें या कैंपिंग का रोमांच जिएं, डोंगुरी घाटी यादगार पल सौंपने का वादा करती है।

(Disclaimer- यहां दी गई जानकारी सामान्य मान्यताओं के आधार पर बताई गई है। MP Breaking News इसकी पुष्टि नहीं करता।)

 


About Author
भावना चौबे

भावना चौबे

इस रंगीन दुनिया में खबरों का अपना अलग ही रंग होता है। यह रंग इतना चमकदार होता है कि सभी की आंखें खोल देता है। यह कहना बिल्कुल गलत नहीं होगा कि कलम में बहुत ताकत होती है। इसी ताकत को बरकरार रखने के लिए मैं हर रोज पत्रकारिता के नए-नए पहलुओं को समझती और सीखती हूं। मैंने श्री वैष्णव इंस्टिट्यूट ऑफ़ जर्नलिज्म एंड मास कम्युनिकेशन इंदौर से बीए स्नातक किया है। अपनी रुचि को आगे बढ़ाते हुए, मैं अब DAVV यूनिवर्सिटी में इसी विषय में स्नातकोत्तर कर रही हूं। पत्रकारिता का यह सफर अभी शुरू हुआ है, लेकिन मैं इसमें आगे बढ़ने के लिए उत्सुक हूं। मुझे कंटेंट राइटिंग, कॉपी राइटिंग और वॉइस ओवर का अच्छा ज्ञान है। मुझे मनोरंजन, जीवनशैली और धर्म जैसे विषयों पर लिखना अच्छा लगता है। मेरा मानना है कि पत्रकारिता समाज का दर्पण है। यह समाज को सच दिखाने और लोगों को जागरूक करने का एक महत्वपूर्ण माध्यम है। मैं अपनी लेखनी के माध्यम से समाज में सकारात्मक बदलाव लाने का प्रयास करूंगी।

Other Latest News