Indore Crime News : बच्चों के गिरोह ने खेल-खेल में चुरा ली 17 स्पोर्ट्स साइकिलें, ऐसे हुआ खुलासा

Indore Crime News : इंदौर से एक अनोखा चोरी का मामला सामने आया है। बताया जा रहा है कि बच्चों के एक गिरोह ने खेल-खेल में 17 सपोर्ट साइकिल ले चुरा ली। इन साइकिलों की कीमत लाखों रुपए बताई जा रही है। जब घर वाले बच्चों से पूछते थे की ये कहा से लाए तो बच्चे बोलते थे उन्हें नौकरी मिल गई। साइकिल बेचने वाले मालिक ने ये बेचने के लिए दी है। ये भी बात सामने आई कि जो साइकिल पुरानी हो जाती थी या ख़राब हो जाती थी तो उसको रस्ते में ही वो छोड़ देते थे। इस ममे को लेकर बाणगंगा पुलिस को लगातार शिकायत मिल रही थी जिसके बाद पुलिस ने जांच करना शुरू की। जांच में ये बात सामने आई कि बच्चों का एक गिरोह महंगी स्पोर्ट्स साइकिलें चुराता था। पुलिस ने लाखों रुपये कीमती 17 साइकिलें बरामद की है।

बाणगंगा टीआई राजेंद्र सोनी ने बताया –

इस मामले को लेकर बाणगंगा टीआई राजेंद्र सोनी द्वारा बताया गया है कि मृत्युंजय नाम के एक बालक की सब्जी मंडी क्षेत्र से स्पोर्ट्स साइकिल चोरी हो गई थी। जिसके बाद उसने थाने में आकर शिकायत दर्ज करवाई। इस शिकायत के बाद चोरों की तलाश टीम ने शुरू कर दी थी। ऐसे में जब पुलिस की टीम सुपर कॉरिडोर की तरफ तलाश करते करते गया तो उन्हें कुछ बच्चे साइकिल भगाते हुए नजर आए। इसी दौरान मृत्युंजय ने उसकी साईकिल की पहचान कर ली।

तभी टीआई और एसआई ने साइकिल चोर बच्चों को पकड़ कर थाने ले गए। जब उनसे इस बात को लेकर पूछताछ की तो यह बात सामने आई कि वही साइकिल चोरी करते हैं। यह पहली बार नहीं है जब पुलिस को साइकिल चोरी की शिकायत मिली है। इससे पहले भी कई बार पुलिस को साइकिल चोरी की शिकायत मिल चुकी है। लेकिन कोई सबूत हाथ नहीं लगा था। जब पुलिस ने बच्चों के गिरोह से पूछताछ की तो यह बात सामने आई कि वह काफी महीनों से साइकिल चला रहे हैं। ऐसे में पुलिस उन बच्चों के घर की तलाशी करने के लिए गई तो घर की छत और बरामदे में साइकिल का ढेर पुलिस को मिला।

ऐसे में पुलिस ने 17 साइकिलें बरामद की है। जिनकी कीमत लाखों रुपए है। पुलिस द्वारा बताया गया है कि साइकिल चोर बच्चों में से दो पढ़ाई करते हैं। जब पुलिस ने इनके परिजनों से पूछताछ की तो उन्होंने बताया कि बच्चे रोज-रोज साईकिल बदलते थे। उन्हें भी इस बात को लेकर शक हुआ था। लेकिन उनसे जब पूछा गया कि यह साइकिल कहां से लाए हैं तो उन्होंने पार्ट टाइम जॉब का बहाना दे दिया और कहा कि सेठ ने साइकिल बेचने के लिए दी है। अगर ऐसा करते हैं तो उन्हें कमीशन और दाम मिलेगा।