gayatri

अलीराजपुर, यतेन्द्रसिंह सोलंकी। अखिल विश्व गायत्री परिवार शांतिकुंज हरिद्वार (Akhil Vishwa Gayatri Parivar Shantikunj Haridwar) के द्वारा देश में कोरोना महामारी (Covid-19) से मुक्ति के लिए एक ही दिन में व एक साथ गायत्री यज्ञ (Gayatri Yagya) किया जाएगा। यह गायत्री यज्ञ देश में एक ही समय पर 40 लाख घरों में संपन्न किए जाएंगे। अलीराजपुर जिले में करीब 5 हजार घर इस यज्ञ में हिस्सा लेंगे।

यह भी पढ़ें:-मंत्री बृजेन्द्र सिंह यादव ने जनता रसोई का किया शुभारंभ, मरीजों व अटेंडरों को मिलेगा निशुल्क भोजन

जिला समन्वयक संतोष वर्मा ने बताया कि इन दिनों दुनिया कोरोना महामारी के संकट से जूझ रही है। अखिल विश्व गायत्री परिवार शांतिकुंज हरिद्वार के आह्वान पर अलीराजपुर जिले के 5 हजार घरों में ग्रहे-ग्रहे गायत्री यज्ञ 26 मई बुद्ध पूर्णिमा के दिन सुबह 9 से 11 बजे तक एक साथ, एक समय पर 24 बार गायत्री महामंत्र से, 5 बार महामृत्युंजय मंत्र से, 3 बार कोरोना कृमि नाशक मंत्र से आहुति देकर यज्ञ सम्पन्न किये जाएंगे।

यज्ञ एक विज्ञान

संतोष वर्मा ने यज्ञीय विज्ञान के आधार पर जानकारी देते हुए बताया कि यज्ञ के द्वारा जो शक्तिशाली तत्त्व वायुमंडल में फैलाये जाते हैं, उनसे हवा में घूमते असंख्य रोग-कीटाणु सहज ही नष्ट होते हैं। उसी प्रकार मंत्रोच्चारण से भी एक विशिष्ट प्रकार की ध्वनि तरंगें निकलती हैं और उनका भारी प्रभाव विश्व व्यापी प्रकृति पर, सूक्ष्म जगत पर, और प्राणीयों के स्थूल व सूक्ष्म शरीरों पर पड़ता है। इसलिए कोरोना महामारी से बचने का यज्ञ एक सामूहिक उपाय है।

मोबाइल पर दिया जा रहा यज्ञ का प्रशिक्षण

अलीराजपुर के जोबट से गायत्री परिवार के वरिष्ठ डॉ. शिवनारायण सक्सैना व अलीराजपुर से गायत्री परिवार के ट्रस्टी रणछोड राठौड़, जगदीश राठौड़ पिपलियावाट वाले ने जिले के सभी समाज प्रमुखों से आव्हान किया है कि वे भी इस कोरोना महामारी से बचाव के लिए अपने समाज के सभी लोगों को अपने घरों में गायत्री यज्ञ कोरोना गाइडलाइन के नियमों का पालन करते हुए संपन्न करने के लिए प्रेरित करें। गायत्री परिवार के सभी परिजन मिलकर इस महामारी की आपदा से बचाने के लिये घर-घर यज्ञ के लिए भरपूर प्रयास कर रहे हैं। गायत्री परिवार मोबाइल से जन सम्पर्क कर यज्ञ के ईच्छुक परिजनों को यज्ञ का प्रशिक्षण देकर पंजीयन कर रहे हैं।