आलीराजपुर जोबट एसडीओपी नीरज नामदेव का साइबर अपराध रोकने का एक अनूठा नवाचार प्रयास

ज़िला आलीराजपुर जिला आदिवासी बाहुल्य ज़िला है एवम शिक्षा का प्रतिशत काफ़ी कम है। भोलेभाले आदिवासी जनसमुदाय को आसानी से धोखा देकर ऑनलाइन ठगी का शिकार बनाया जाता है तथा इन्हें सायबर अपराधियों द्वारा धोखा देकर इनके पैसों पर चपत लगा दी जाती है।

अलीराजपुर, यतेन्द्र सिंह सोलंकी। अलिराजपुर:नवागत अनुविभागीय अधिकारी पुलिस जोबट नीरज नामदेव ने कार्यभार सम्भालते ही सामुदायिक पुलिसिंग के तहत नवाचार प्रारम्भ किए हैं। इसी कड़ी में सभी थानो में साइबर अपराधो पर नियंत्रण ओर रोक हो सके, इस हेतु भीड़ भाड़ वाले स्थानो पर जागरूकता पोस्टर लगाये गए हैं। जिसमें थाना आने वाले आगंतुकों को चित्रों के माध्यम से समझाया गया है की उन्हें क्या करना है और क्या नही करना।

यह भी पढ़ें – कौन है वो खिलाड़ी जिसने IPL 2022 में अब तक सर्वाधिक रन बनाए और सर्वाधिक विकेट लिए

आलीराजपुर जोबट एसडीओपी नीरज नामदेव का साइबर अपराध रोकने का एक अनूठा नवाचार प्रयासआलीराजपुर जोबट एसडीओपी नीरज नामदेव का साइबर अपराध रोकने का एक अनूठा नवाचार प्रयास आलीराजपुर जोबट एसडीओपी नीरज नामदेव का साइबर अपराध रोकने का एक अनूठा नवाचार प्रयास आलीराजपुर जोबट एसडीओपी नीरज नामदेव का साइबर अपराध रोकने का एक अनूठा नवाचार प्रयास

जोबट सहित पूरे जिले में उनके इस नवाचार की काफ़ी प्रशंसा की जा रही है। ग़ौरतलब है कि ज़िला आलीराजपुर जिला आदिवासी बाहुल्य ज़िला है एवम शिक्षा का प्रतिशत काफ़ी कम है। भोलेभाले आदिवासी जनसमुदाय को आसानी से धोखा देकर ऑनलाइन ठगी का शिकार बनाया जाता है तथा इन्हें सायबर अपराधियों द्वारा धोखा देकर इनके पैसों पर चपत लगा दी जाती है।

यह भी पढ़ें – KGF Chapter 2 ने तोड़ा RRR का रिकॉर्ड, कमाई जानकर दंग रह जाएंगे आप

ऐसे में SDOP नीरज नामदेव ने सायबर अपराधों पर कमी लाने हेतु एक नया अनूठा प्रयोग किया है। नीरज नामदेव के इस अभिनव नवाचार को काफ़ी सराहना मिल रही है। आने वाले दिनो में जनसमुदाय को साइबर अपराधों के प्रति जागरुक करने के लिए वृहद स्तर पर कार्य किया जाएगा। बता दें आपको की पिछले कुछ समय से ऑनलाइन ठगी के मामले बहुत अधिक बढ़ गए थे। जिसके बाद नीरज नामदेव ने लोगों में जागरूकता लाने के सन्दर्भ में इस कदम को उठाया है।

यह भी पढ़ें – E- Scooter में अब तक इस बड़ी गलती के कारण लग रही थी आग, हुआ बड़ा खुलासा

पोस्टर देख कर आप खुद ही समझ सकते हैं कि किस तरह उन्होंने लोगों को जानकारी प्रदान करने के लिए प्रारूप तैयार किया है। उन्होंने इन पोस्टरों के माध्यम से उन सभी घटनाओं का उल्लेख किया है जिसके तहत ऑनलाइन ठगी की जा सकती है। इन पोस्टरों में सांकेतिक रूप भी इस्तेमाल किये गए हैं ताकि लोग इसे अच्छे से समझ सकें।