खाद न मिलने से उग्र किसानों ने कृषि अधिकारी के साथ की मारपीट, SDM मौके से भागे

बता दें कि अशोकनगर जिले में बीते 8 दिन से लगातार किसान खाद के लिए परेशान हो रहे हैं। प्रशासन ने सोमवार को किसानों को खाद देने का आश्वासन दिया था, मगर आज भी हजारों किसानों को खाद नहीं मिल सका।

अशोकनगर, हितेंद्र बुधौलिया। किसानों को खाद उपलब्ध कराने में अशोकनगर (Ashoknagar) प्रशासन बुरी तरह विफल हो रहा है। खाद न मिलने पर किसानों द्वारा लागातार विरोध के बावदूज भी प्रशासन के दावे ढीले पड़ रहे हैं। अशोकनगर में सोमवार सुबह से सरकारी खाद विक्रय केंद्र पर उमड़े किसानों ने 5 घण्टे बाद भी खाद की पर्ची न मिलने पर हंगामा कर दिया। वरिष्ठ कृषि विस्तार अधिकारी मुकेश रघुवंशी के साथ किसानों ने ना केवल अभद्रता की बल्कि उनके साथ झूमा-झटकी और मारपीट कर दी। उग्र किसानों से बचने के लिये sado को सरकारी गाड़ी में छुपना पड़ा जिन्हें पुलिस ने बड़ी मुश्किल से बचाया। किसानों की उग्रता को बढ़ता देख sdm रवि मालवीय भी पीछे के रास्ते से निकल गये।

ये भी पढ़ें- मध्य प्रदेश के किसानों को बड़ी राहत, मिली पंजीयन की अनुमति, ये है आखिरी तारीख

उल्लेखनीय है अशोकनगर जिले में खाद की मारामरी है। सरकारी गोदाम एवं सोसायटियो में खाद खत्म होने के बाद निजी दुकानों के खाद के विक्रय को भी प्रशासन ने अपने हाथ मे ले लिया था। आज सुबह से ही सरकारी गोदाम में हजारों की संख्या में किसान जुट गये थे। निजी दुकानों के लिये यहां से 3 बोरा प्रति किसान के हिसाब से किसानों को पर्ची दी जा रही थी जहां 1500 किसानों को पर्ची बांटी भी गई। लेकिन इसके बाद स्टॉक खत्म होने की बात कह कर पर्ची बांटना बन्द कर दिया। इसके बाद बचे हुए हजारों की संख्या में किसानों ने जमकर हंगामा कर दिया। पर्ची बंटवा रहे कृषि विभाग के sado  मुकेश रघुवंशी को लेकर किसानों में जमकर रोष देखने को मिला। वहीं पर्ची ना मिलने से नाराज किसानों ने मुकेश रघुवंशी अपना गुस्सा उतार दिया और उनके साथ अपशब्द कहते हुए झूमाझटकी और मारपीट करने लगे। गुस्सा देख अधिकारी ने सरकारी गाड़ी में बैठकर किसी तरह अपने आप को बचाया। जिसके बाद पुलिस ने गाड़ी को चारों तरफ से घेर कर उन्हें सुरक्षा दी। इसी दौरान गाड़ी से झूमाझटकी करते वक्त एक किसान चोटिल भी हुआ। हंगामे के बाद मौके पर अतिरिक्त पुलिसबल बुलाना पड़ा। बढ़ता हंगामा और किसानों को उग्र होता देख sdm रवि मालवीय पीछे के रास्ते से मौके से निकल गये। करीब आधा घण्टे बाद पुलिस बल ने मामले शआंत करवाया जिसके बाद sdm फिर किसानों के बीच पहुंचे।

आपको बता दें कि अशोकनगर जिले में बीते 8 दिन से लगातार किसान खाद के लिए परेशान हो रहे हैं। चार बार जिला मुख्यालय पर चक्का जाम कर चुके हैं। इतने दिनों से जाम लगाए जाने पर प्रशासन ने सोमवार को किसानों को खाद देने का आश्वासन दिया था, मगर आज भी जब हजारों किसानों को खाद नहीं मिला जिसके बाद किसान उग्र हो गये।